राष्ट्रपति, मंत्री, विधायक, MP समेत 1500 माननीय बिहार विधानसभा शताब्दी समारोह में शामिल होंगे

Nawab Ali, Last updated: Mon, 18th Oct 2021, 7:57 AM IST
  • बिहार विधानसभा के 100 साल पूरे होने पर शताब्दी समारोह आयोजित किया जा रहा है. इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी 21 अक्टूबर को शामिल होंगे. साथ ही बिहार से लोकसभा-राज्यसभा, पूर्व व मौजूदा विधायक, बिहार से केंद्र में मंत्री समेत विधान पार्षद शामिल होंगे.
21 अक्टूबर को बिहार शताब्दी समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शामिल होंगे. फाइल फोटो

पटना. बिहार विधानसभा को 100 साल पूरे होने पर 21 अक्टूबर को शताब्दी समारोह का आयोजन किया जा रहा है जिसमें देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी शामिल होंगे. बिहार विधानसभा के शताब्दी समारोह को यादगार बनाने के लिए बिहार के लोकसभा व राज्यसभा सांसद, पूर्व व मौजूदा विधायक, विधान पार्षद आमंत्रित किये गए हैं. बिहार से केंद्र में सभी मंत्री भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे. कुल मिलकर इस कार्यक्रम में करीब 1500 माननीय शामिल होंगे. बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि उन्होंने सभी फोन कर कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण दिया है. 

बिहार विधानसभा के सौ साल पूरे होने पर बिहार की नीतीश कुमार सरकार शताब्दी समारोह मनाने जा रही है. बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि सोमवार को  प्रदेश के सभी पूर्व व मौजूदा विधायकों से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग से जुड़ेंगे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इस कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे हैं जिस कारण विधानसभा भवन को भव्य तरह से सजाया गया है. विधानसभा भवन को खूबसूरत रंग-बिरंगी लाइटों से जगमग किया गया है. इस दौरान विधानसभा के 100 वर्षों की शानदार व स्वर्णिम यात्रा को नई पीढ़ी तक पहुंचाने के मकसद से भव्य स्मारिका का प्रकाशन किया जा रहा है. 

अनंतनाग में दो बिहारी मजदूरों की हत्या, CM नीतीश ने जम्मू कश्मीर LG से की बात

विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा का कहना है कि 100 वर्ष के एतिहासिक सफर में कईराजनीतिक-सामाजिक आर्थिक संकल्प पूरे हुए हैं. बिहार विधानसभ भवन बिहार के बदलाव का कारण बना है. एक से बढ़कर एक यादगार क्षण इस परिसर ने इस सफर में अपने में समाहित किया है. शताब्दी समारोह के जरिये नई पीढ़ी इसे जान पायेगी तथा अपने राज्य और यहां के विधायी कार्यों की उनमें समझ विकसित होगी. जनप्रतिनिधियों के प्रति सम्मान का भाव भी बढ़ेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें