पटना को मिलेगी 24 घंटे बिजली! राष्ट्रपति कोविंद के जाने के साथ वापस लौट जाएगी, जानें कैसे

Haimendra Singh, Last updated: Wed, 20th Oct 2021, 4:22 PM IST
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बिहार विधानसभा के शताब्दी समारोह में शामिल होने के लिए पटना पहुंच गए हैं. तीन दिवसीय यात्रा पर पटना आए राष्ट्रपति कोविंद का राज्यपाल फागू चौहान व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वागत किया. 
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का एयरपोर्ट पर स्वागत करते सीएम नीतीश कुमार. फोटो क्रेडिट ( राष्ट्रपति इंडिया ट्विटर)

पटना. बिहार विधानसभा के शताब्दी समारोह में शामिल होने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पटना पहुंच गए हैं. पटना में राष्ट्रपति कोविंद का राज्यपाल फागू चौहान व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वागत किया. भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद(Ramnath Kovind) तीन दिवसीय दौरे पर आज पटना आ रहे हैं. राष्ट्रपति कोविंद इस दौरे पर बिहार विधानसभा भवन के शताब्‍दी समारोह में हिस्‍सा लेंगे. देशभर में चल बिजली संकट के बीच महामहिम केविंद के आगमन के बाद पटना को पर्याप्त मात्रा में बिजली मिलेगी. मिनिस्ट्री ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (पेसू) ने इसको लेकर सारी तैयारियां कर ली है. महामहिम(President Ramnath Kovind) के सभी कार्यक्रम स्थल से जुड़े पीएसएस, ट्रांसफॉर्मरों पर अतिरिक्त बिजलीकर्मियों को तैनात किया गया है. साथ ही राजभवन स्थित नियंत्रण कक्ष और पेसू क्षेत्र का कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है, लेकिन माना जा रहा है कि राष्ट्रपति के पटना दौरे(Ramnath Kovind Patna Yatra) के बाद 24 घंटे मिलने वाली बिजली सेवा भी वापस लौट जाएगी. 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पटना आने आने से पहले मंगलवार को बिजलीकर्मियों ने सभी कार्यक्रम स्थल के पीएसएस, ट्रांसफॉर्मर समेत तारों की जांच-पड़ताल कर दुरुस्त किया. कार्यक्रम को देखते हुए बिजली विभाग ने कर्मियों की विशेष तैनाती पीएसएस सिंचाई भवन, जक्कनपुर, वेटनरी, विकास भवन और एनसी पैनल आरएमयू में की है. इसके अलावा महावीर मंदिर परिसर और बुद्धा स्मृति पार्क के ट्रांसफॉर्मर के पास, पीएसएस मौर्यालोक, पीएसएस एसकेएम, खादी मॉल गांधी मैदान, तख्त श्री हरिमंदिर साहिब, आरएमयू चौक थाना, पीएसएस मंगलतालाब क्षेत्र में भी अतिरिक्त बिजली कर्मियों को लगाया गया है.

तारापुर उपचुनाव: JDU में शामिल हुए बिहार के मंत्री सम्राट चौधरी के भाई रोहित

राष्ट्रपति के पटना दौरे को देखते हुए नूतन राजधानी, डाकबंगला, बांकीपुर एवं पटना सिटी प्रमंडल के विद्युत कार्यपालक अभियंताओं को अपने स्तर से कर्मियों का पदस्थापन करने का अधिकार मिला है. कनीय विद्युत अभियंता ज्ञानेश्वर कुमार को नूतन राजधानी में पेट्रोलिंग कर आवश्यकतानुसार कार्यों को देखरेख करने की जिम्मेदारी दी गई है. पेसू जीएम दिलीप कुमार सिंह ने बताया कि राष्ट्रपति के आगमन से लेकर उनके वापस जाने तक बिजली व्यवस्था सामान्य रखने की पूरी तैयारी कर ली गई है. इसके लिए नियंत्रण कक्ष, कंट्रोल रूम संचालित रहेंगे. साथ ही अपने-अपने क्षेत्रों में बिजलीकर्मियों को पेट्रोलिंग की जिम्मेदारी दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें