IMA की हड़ताल पर निजी डॉक्टर नहीं करेंगे काम, कोविड मरीजों की सेवाएं रहेंगी जारी

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 10:15 PM IST
आईएमए द्वारा शुक्रवार को हड़ताल रखी गई है जिसे लेकर राज्य के डॉक्टरों ने इसका समर्थन देना का फैसला किया है. इसी के चलते वे अपने कार्य भी नहीं करेंगे. 
बिहार के डॉक्टरों ने भी आईएमए का किया समर्थन 

पटना: आईएमए के आह्वान पर संबंधित सरकारी और निजी डॉक्टर शुक्रवार को अपने कार्य का नहीं करेंगे. इसके पीछे जो कारण हैं, उसमें आर्युवेद और आयुष डॉक्टरों को सर्जरी करने के अधिकार को बताया गया है. इस फैसले से मरीजों को भविष्य में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. इस दौरान सिर्फ कोविड मरीजों का उपचार जारी रहेगा. साथ ही इमरजेंसी वाले मरीजों के लिए इलाज जारी रहने वाला है.

केंद्र सरकार द्वारा आयुर्वेद डॉक्टरों को सर्जरी करने की इजाज़त दे दी गई है. जिसको लेकर आईएमए शुरू से ही इसके विरुद्ध में है. वहीं, बिहार में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के साथ और भी दूसरे संगठन भी शामिल होने वाले हैं.

IMA की हड़ताल शुक्रवार को, UP में प्राइवेट अस्पताल, निजी डॉक्टर नहीं करेंगे इलाज

आईएमए के सचिव सुनील कुमार ने कहा है कि उनके संगठन के सभी शाखाओं के डाक्टर सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक काम नहीं करने वाले हैं. इस हड़ताल में कोविड और दूसरी जरूरी सेवाओं को बाधित नहीं किया जाएगा.

IMA की हड़ताल में झारखंड के डॉक्टरों का समर्थन, बंद रहेंगे प्राइवेट OPD

हड़ताल में सहयोगी संगठन जेडीएन और एमएसएन भी शामिल होने वाला है. पीएमसीएच के आंदोलन का नेतृत्व डॉ. सचिदानंद कुमार और अमरकांत झा अमर करेंगे. एनएमसीएच में डॉ. सहजानंद प्रसाद सिंह और डॉ. अजय कुमार इसमें अपनी सहभागिता देते हुए जिम्मेदारी संभालेंगे. इस तरह अन्य संगठन आईजीआइएमएस में डॉ. हरिहर दीक्षित दूसरी ओर जिम्मेदीर संभालने वाले हैं.

IMA की हड़ताल, शुक्रवार को निजी अस्पताल और प्राइवेट डॉक्टर बंद रखेंगे OPD सेवाएं

आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. पीके गुप्ता की मानें तो सेंट्रल काउंसिल फॉर इंडियन मेडिसिन ने हाल में एक अधिसूचना जारी की थी. जिसमें आयुर्वेद और दूसरे आयुष डॉक्टरों को सर्जरी करने की अनुमति दे दी है. जो कि मरीजों के हित में नहीं है. उन्होंने बताया कि एलोपैथिक और आयुष दोनों विभिन्न चीज़ें हैं. दोनों का अपने स्तर पर अलग-अलग रोल है. पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि दोनों के मिलने से कुछ और ही परिणाम होंगे. जिसका सीधा असर मरीजों पर पड़ेगा. बता दें कि देश भर में आईएमए से संबंधित 3 लाख डॉक्टर हैं.

मेरठ में IMA के आह्नान पर डॉक्टरों की हड़ताल, अस्पतालों के OPD रहेंगे बंद

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें