बिहार, झारखंड समेत बंगाल के लिए रेलवे ने रद्द की ये 14 ट्रेनें, जानें डिटेल्स

Smart News Team, Last updated: Sun, 2nd May 2021, 3:36 PM IST
  • हाल ही में जिन 14 ट्रेनों को कैंसिल करने का फैसला किया गया है, उनमें से भागलपुर से मुजफ्फरपुर के बीच चलने वाली स्पेशल एक्सप्रेस और पश्चिम बंगाल के आसनसोल से झारखंड के टाटा नगर के बीच चलने वाली स्पेशल एक्सप्रेस को रद्द कर दिया गया है.
बिहार, झारखंड समेत बंगाल के लिए रेलवे ने रद्द की ये 14 ट्रेनें, जानें डिटेल्स

पटना। पूर्व रेलवे ने जानकारी देते हुए बताया कि अभी हाल ही में जिन 14 ट्रेनों को कैंसिल करने का फैसला किया गया है, उनमें से भागलपुर से मुजफ्फरपुर के बीच चलने वाली 03419 और 03420 स्पेशल एक्सप्रेस और पश्चिम बंगाल के आसनसोल से झारखंड के टाटा नगर के बीच चलने वाली 03511 और 03512 स्पेशल एक्सप्रेस को कल यानी तीन अप्रैल 2021 से पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा. अब यह सभी ट्रेनें चार अप्रैल 2021 से अगले आदेश के लिए रद्द रहेंगी.

पूर्व रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोरोना काल में इन ट्रेनों के संचालन के बाद भी उसमें कभी भी क्षमता के मुताबिक यात्री नहीं मिले. इस समय कोरोना की दूसरी लहर के चलने के बाद से यात्रियों की संख्या और अधिक गिरावट आ गई है. यही कारण है कि इन ट्रेनों को रद्द किया जा रहा है. इन ट्रेनों के रद्द कर देने से उस क्षमता का इस्तेमाल दूसरी अन्य ट्रेनों या फिर माल गाड़ी को चलाने में किया जाएगा.

बिहार में शनिवार को 62402 लोगों को लगा कोरोना का टीका, फुल डिटेल्स

पूर्व रेलवे अभी हाल में रद्द की गई स्पेशल एक्सप्रेसों में हावड़ा से बोलपुर के बीच चलने वाली 02337 और 02338 शांति निकेतन एक्सप्रेस भी शामिल है. इसके अलावा 02383 और 02384 सियालदह आसनसोल एक्सप्रेस, 03001 और 03002 हावड़ा सिउड़ी एक्सप्रेस और 03431 नवद्वीप धाम से मालदा टाउन के बीच चलने वाली स्पेशल एक्सप्रेस शामिल हैं. ये सभी ट्रेनें चार मई से नहीं चलेंगी.

जेल से निकलते ही RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने शहाबुद्दीन की मौत पर जताया दुख

इसके अलावा पश्चिम बंगाल के दीघा से आसनसोल के बीच चलने वाली 03505 और 03506 स्पेशल एक्सप्रेस को भी रद्द किया गया है. केवल यही दोनों ट्रेनें आठ मई तक चलती रहेंगी. यह ट्रेन पश्चिम बंगाल में स्थित शिल्पांचल को तटीय शहर दीघा से जोड़ती है. पश्चिम बंगाल में दीघा इकलौता ऐसा समुद्र तट है, जिसे पर्यटकों के मुताबिक विकसित किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें