रेलवे अभ्यर्थियों की RRB को सलाह, बैंकों की तरह एक परीक्षा और रिजल्ट का तरीका अपनाएं भर्ती बोर्ड

Haimendra Singh, Last updated: Fri, 4th Feb 2022, 8:02 AM IST
  • आरआरबी एनटीपीसी रेलवे परीक्षा विवाद के बाद बनी कमेठी को रेलवे परीक्षार्थियों ने सलाह दी है कि भर्ती बोर्ड को रेलवे की परीक्षा में एक परीक्षा और रिजल्ट का पैटर्न अपनाना चाहिए. इसके अलावा बोर्ड को अपना वार्षिक कैलेंडर भी जारी करना चाहिए.
छात्रों की रेलवे भर्ती बोर्ड को सलाह, रेलवे में हो एक परीक्षा का पैटर्न.

पटना. आरआरबी एनटीपीसी भर्ती के लेकर हुए विवाद के बाद रेलवे अभ्यर्थियों ने रेलवे भर्ती बोर्ड(RRB) के अधिकारियों को सलाह दी है कि रेलवे की परीक्षाएं बैंक की तरह एक परीक्षा (केंद्रीयकृत परीक्षा) और रिजल्ट की प्रक्रिया की तर्ज पर कराई जानी चाहिए. बोर्ड से अभ्यर्थियों का कहना है कि आईबीपीएस भी सभी बैंकों की परीक्षा केंद्रीयकृत तरीके से लेता है और इसका रिजल्ट भी केंद्रीयकृत तरीके से जारी किया जाता है. अभ्यर्थियों ने कहा, कि जिस बैंक में जितनी वैकेंसी होती है. उसी अनुसार अभ्यर्थियों की भर्ती को पूरा किया जाता है. आईबीपीएस वेटिंग लिस्ट भी जारी करती है. साथ ही आईबीपीएस अपना कैलेंडर भी जारी करती है. प्रत्येक साल आईबीपीएस क्लर्क और पीओ के लिए पद जारी करता है. ऐसा करने पर विवाद की आशंका नहीं रहेगी.

रेलवे एनटीपीसी स्नातक स्तरीय और ग्रुप डी की परीक्षाओं को लेकर आरआरबी बोर्ड द्वारा छात्रों की परेशानियों को दूर करने के लिए एक उच्च स्तरीय कमेटी गठित की गई है. यह कमेटी सभी जगह जाकर छात्रों की समस्याओं को सुन रही है. इन्हीं सुझाव में केंद्रीयकृत परीक्षा कराने का प्रस्ताव आया था. इसके अलावा छात्रों ने मांग की है कि रेलवे भर्ती आवेदन के समय अभ्यर्थियों ने ईडब्ल्यूएस के नए आवेदन को स्वीकार करने का प्रस्ताव दिया है. लेकिन समय पर ईडब्ल्यूएस का सर्टिफिकेट बनाने में छात्रों को रेलवे परेशानियां हुई थी जिस कारण ईडब्ल्यूएस कैटगरी में उनका आवेदन नहीं हो सकता. रेलवे से जुड़े अधिकारियों का कहा है कि बोर्ड के पास आए सुझावों पर आरआरबी गंभीरतापूर्वक विचार कर रही है, यदि छात्रों की सलाह मानी जाती है कि रेलवे परीक्षा में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है.

BPSC: बिहार CDPO भर्ती परीक्षा की नई तारीख जारी, 15 मई को होगा एग्जाम

आरआरबी के सभी बोर्ड जारी करते हैं कटऑफ 

रेलवे भर्ती बोर्ड सिर्फ रिक्तियां व परीक्षा को आयोजित कराता है जिसके बाद सभी बोर्ड अपनी-अपनी कटऑफ अलग-अलग जारी करते है. इस कारण कटऑफ बहुत अधिक होता है. वहीं नॉर्मलाइजेशन की वजह से अच्छे अंकों के बाद भी छात्र पिछड़ जाते हैं. यह एक बड़ी समस्या है.

रेलवे जारी नहीं करता है परीक्षा कैलेंडर

आरआरबी की कमेठी को अभ्यर्थियों ने सलाह दी है कि बैंक की परीक्षाओं के लिए आईबीपीएस एग्जाम कराता है और वर्ष अपना कैलेंडर जारी करता है लेकिन आरआरबी देश का सबसे बड़ा बोर्ड है, बावजूद इसके कोई कैलेंडर जारी नहीं किया जाता. इससे छात्रों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें