पटना के रामबाबू को लगाया गया कोरोना से बचाव का पहला टीका, महसूस कर रहे हैं गर्व

Smart News Team, Last updated: Fri, 22nd Jan 2021, 2:14 PM IST
  • आईजीआईएमएस के सफाई कर्मचारी रामबाबू को कोरोना से बचने के लिए टीका लगाया गया. रामबाबू राज्य में कोरोना टीका लगने वाले पहले व्यक्ति हैं. रामबाबू ने टीका लगने के बाद देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, चिकित्सा और वैज्ञानिकों को बधाई दी. 
बिहार में पहला टीका लगने वाले रामबाबू ( सांकेतिंक फोटो )

पटना: बिहार में कोरोना वायरस का पहला टीका आईजीआईएमएस के सफाई कर्मचारी राम बाबू को लगाया गया. बिहार में किसी व्यक्ति को कोरोना से बचाव के लगने वाला यह पहला टीका है. टीका लगने के बाद राम बाबू को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई है. वह पहले की तरह सामान्य है.

पटना में इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (आईजीआईएमएस) में काम करने वाले सफाई कर्मचारी रामबाबू को कोरोना वायरस से बचने के लिए टीका लगाया गया. राज्य भर में रामबाबू कोरोना का टीका लगवाना वाले पहले व्यक्ति हैं. नौवीं कक्षा तक पढ़े रामबाबू राज्य में पहला टीका लगवाने के बाद से बहुत गर्व महसूस कर रहे हैं.

पटना के 17 में से 16 आइसोलेशन सेंटर हुए बंद, कोरोना संक्रमण दर में आई कमी

रामबाबू के परिवार में पत्नी, दो बेटे व एक बेटी है. कुछ समय पहले परिवार में से उनकी पत्नी सोनी कोरोना से संक्रमित थी, लेकिन कुछ समय के इलाज के बाद वह ठीक हो गई. शुक्रवार की शाम रामबाबू को फोन पर टीका लगने की सूचना दी गई और उनके मोबाइल पर एसएमएस भी आया. टीका लगने के बाद रामबाबू ने बताया कि यह बिल्कुल सामान्य इंजेक्शन की तरह महसूस हुआ. मुझे न टीका लगने से पहले कोई डर था और ना ही अब किसी तरह का कोई दर लग रहा है. टीका लगने के बाद शाम तक मुझे किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई. अब मै पहले की तरह सामान्य हूं और रोज़ की तरह सामान्य तरीके से काम कर रहा हूं. 

सरकार का फैसला, ठेकों के लिए ठेकेदार व उनके कर्मी जमा करेंगे चरित्र प्रमाण पत्र

रामबाबू ने टीका लगने के बाद देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, चिकित्सा और वैज्ञानिकों को बधाई दी और शुक्रिया अदा किया जिनके कारण आज एक आम सफाई कर्मचारी को कोरोना से बचने के लिए टीका मिल पाया.

दसवीं-12वीं एग्जाम डेट बढ़वाना चाहते हैं BSEB बिहार बोर्ड के छात्र, ये है कारण

27 साल बाद बढ़ेगा पटना में होल्डिंग टैक्स, निगम में पारित अब सरकार लेगी फैसला

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें