पटना

कोरोना कहर से पेरशान पटना के लिए गुड न्यूज, बाबा रामदेव का दावा- हमने बना ली दवा

Smart News Team, Last updated: 23/06/2020 06:53 PM IST
  • कोरोना वायरस के कहर से परेशान पटनावासियों के लिए अच्छी खबर है। योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 की दवा बना ली है।
पतंजलि ने कोरोना वायरस की दवा 'कोरोनिल' बाजार में उतारी

कोरोना वायरस के कहर से परेशान पटनावासियों के लिए अच्छी खबर है। योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने दावा किया है कि उसने कोविड-19 की दवा बना ली है। योग गुरु स्वामी रामदेव ने कोरोना वायरस की दवा 'कोरोनिल' को मंगलवार को बाजार में उतार दिया। उन्होंने दावा किया कि आयुर्वेद पद्धति से जड़ी बूटियों के गहन अध्ययन और शोध के बाद बनी यह दवा शत प्रतिशत कोरोना के मरीजों को फायदा पहुंचा रही है। अगर यह दावा सही है तो फिर कोरोना वायरस संकट में बड़ी राहत की खबर है।

प्रमाणिकता के साथ बाजार में दवा

पतंजलि योगपीठ में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि पतंजलि पूरे विश्व में पहला ऐसा आयुर्वेदिक संस्थान है, जिसने जड़ी बूटियों के गहन अध्ययन और शोध के बाद कोरोना महामारी की दवाई प्रमाणिकता के साथ बाजार में उतारी है। उन्होंने कहा कि यह दवाई शत प्रतिशत मरीजों को फायदा पहुंचा रही है।

100 मरीजों पर हुआ ट्रायल

रामदेव ने कहा कि इस दवा का 100 मरीजों पर नियंत्रित क्लिनिकल ट्रायल किया गया जिसमें तीन दिन के अंदर 69 फीसदी और चार दिन के अंदर शत प्रतिशत मरीज ठीक हो गये और उनकी जांच रिपोर्ट पॉजिटिव से नेगेटिव हो गई। बाबा रामदेव ने कहा, 'यह इतिहास की बहुत बड़ी घटना है।' उन्होंने इस संबंध में कटाक्ष भी किया और कहा कि हो सकता है कि कई लोग इस दवाई पर संदेह करें और 'कहें कि यह कैसे हो सकता है।'

Ramdev Patanjali Launches Coronil Anti Covid Tablets

आयुर्वेद जगत के लिए गर्व का विषय

रामदेव ने कहा कि हम 'कोरोनिल' को पतंजलि योगपीठ से पूरे विश्व के लिए लॉन्च कर रहे हैं और पूरे आयुर्वेद जगत के लिए यह बहुत ही गर्व का विषय है। उन्होंने कहा कि आगामी सोमवार तक वह एक ऐप जारी करेंगे, जिससे लोगों को घर बैठे-बैठे कोरोना की तीनों दवाइयां मिल जाया करेंगी। स्वामी रामदेव ने कहा कि हम आने वाले समय में कोरोना के कारण गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) में भर्ती हुए मरीजों पर भी अपनी दवाई का परीक्षण करेंगे। उन्होंने कहा कि अभी इस दवा का परीक्षण कोरोना संक्रमण के पहले और दूसरे चरण के मरीजों पर हुआ है जिन्हें शत-प्रतिशत फायदा हुआ है।

रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि इस दवा के अनुसंधान में पतंजलि और जयपुर के राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान के चिकित्सकों ने संयुक्त रूप से परीक्षण और क्लीनिक ट्रायल किया। साथ ही बताया कि अनुसंधान का कार्य अभी जारी रहेगा। बता दें कि पटना समेत बिहार के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना के मरीज मिल रहे हैं, ऐसे में दवा के मिलने से इसकी संख्या में गिरावट देखने को मिल सकती है।

अन्य खबरें