पटना में रिकॉर्ड तोड़ ऑनलाइन फ्रॉड, साइबर क्राइम में देश के बड़े शहर पीछे छूटे

Smart News Team, Last updated: 06/09/2020 10:44 AM IST
  • बिहार की राजधानी पटना में देश में दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा साइबर क्राइम किए जाते हैं. अनाधिकृत इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर के सबसे ज्यादा मामले दिल्ली के बाद पटना में होते हैं. 
साइबर क्राइम में पटना देश में दूसरे नंबर पर.

पटना. भारतीय रिर्जव बैंक ने बैंकिंग क्षेत्र में हो रही धोखाधड़ी की शिकायतों पर कहा कि 2019 से लेकर 2020 तक इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर से जुड़ी 19 हजार से ज्यादा शिकायतें मिली है. इन शिकायतों के बारें में देश के सभी बड़े जिलों को सूचित किया गया है. साइबर क्राइम में सबसे पहले नंबर पर दिल्ली में शिकायते दर्ज होती हैं फिर दूसरे नंबर पर बिहार की राजधानी पटना में साइबर अपराध को अंजाम दिया जाता है.

बैंक अपने सभी ग्राहकों की संभव मदद करने का प्रयास करते हैं. वहीं रिर्जव बैंक की तरफ से भी मामलों को बैंकों के पास भेजा जाता है जिससे जल्द ग्राहकों की परेशानी का समाधान किया जा सके.  

पटना साइबर क्राइम में दूसरे नंबर पर.

भारतीय रिजर्व बैंक के पास पिछले एक साल में 4 लाख से अधिक शिकायतें आईं जिसमें डेबिट, क्रेडिट कार्ड पर बिना जानकारी के शुल्क लगाने की समस्या सबसे अधिक पाई गई.  

पटना: बेरोजगारी को लेकर युवाओं ने थाली बजाकर जताया विरोध, सड़क पर भी उतरे

एक आरटीआई के अनुसार मार्च 2020 से लेकर जून के दौरान आरबीआई के निर्देशों के उल्लंघन के हजारों मामले सामने आए हैं जिसमें बैंकिंग वित्तीय कंपनियों ने ग्राहकों को ज्यादा ठगा है. 

पटना के लिए खुशखबरी! 12 सितंबर से पूर्व-मध्य स्टेशन से 20 स्पेशल ट्रेनें शुरू

आरबीआई के अनुसार शिकायतों में सरकारी और निजी बैंक दोनों ही शामिल है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के लिए करीब 90 हजार शिकायतें दर्ज हैं. वहीं निजी बैंक का एचडीएफसी बैंक शिकायतों के मामले में दूसरे नंबर पर है. हर महीनें बैंकों में 30 हजार से ज्यादा ग्राहक ठगी और बैंकिंग सेवा में परेशानी की शिकायत दर्ज करते हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें