रिंग रोड से उत्तर से दक्षिण बिहार आना होगा आसान, पीएम सोमवार को करेंगे शिलान्यास

Smart News Team, Last updated: 20/09/2020 05:34 PM IST
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 सितंबर को बिहार के लिए 7 परियोजनाओं का शिलान्यास करने वाले हैं. इससे पटना आने जाने में केवल 5 घंटे लगेंगे. इसके लिए महात्मा गांधी सेतु के समानांतर एक नए पुल का निर्माण होगा.
रिंग रोड प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना: राज्य में यातायात की सुविधा के लिए बहुप्रतीक्षित रिंग रोड का शिलान्यास होने की तैयारी पूरी हो चुकी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 सितंबर को बिहार में सात परियोजनाओं का शिलान्यास करने वाले हैं. इसमें पटना महात्मा गांधी सेतु के समानांतर एक नए पुल का शिलान्यास भी शामिल है.

जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी 21 सितंबर को बिहार में कुल सात परियोजनाओं का शिलान्यास करने वाले हैं जोकि राजधानी पटना में आवागमन की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है. पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने बताया कि भागलपुर पर मौजूदा विक्रमशिला सेतु अब अधिक वाहनों की आवाजाही नहीं झेल पा रहा है इसीलिए इसके समानांतर 4.455 किलोमीटर लंबे चार लेन पुल का निर्माण शुरू होगा. मंत्री ने कहा कि सड़कों को एक से अधिक पैकेज में बनाया जा रहा है ताकि निर्माण कार्य जल्द हो सके जैसे झारखंड के रजौली से पटना के बख्तियारपुर के बीच बनने वाली फोर लेन सड़क का निर्माण तीन पैकेज में होगा. इसमें दो का टेंडर हो चुका है तो एक की डीपीआर बन रही है. वही आरा मोहनिया चार लेन सड़क का निर्माण दो पैकेज में हो रहा है. 

तेजस्वी यादव का CM पर निशाना, कहा-सुशासन को चढ़ावे के बिना जनता का नहीं होता काम

साथ ही झारखंड के साहिबगंज से कटिहार मनिहारी को जोड़ने के लिए गंगा पर एक नए पुल का निर्माण भी हो रहा है. जहां यह पुल एक तरफ बिहार की सीमा में पूर्णिया में ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर से जोड़ा जा रहा है. इसके लिए 49 किलोमीटर लंबी नरेंद्रपुर पूर्णिया 4 लेन सड़क बनेगी. दक्षिण से उत्तर बिहार जाने के लिए पटना शहर से बाहर बाहर ही जा सकेंगे. पटना रिंग रोड वाली परियोजना का एक हिस्सा कन्हौली से रामनगर, कच्ची- दरगाह- बिदुपुर होते हुए चकसिकंदर सराय, गंडक पर नए पुल से होते हुए दीघवारा -शेरपुर सड़क होते हुए कन्हौली में समाप्त होगा. इस रिंग रोड की लागत लगभग 15000 करोड़ है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें