बिहार उपचुनाव में प्रचार की डोर थामेंगे लालू यादव, RJD बोली- बड़ा खेला होगा

SHOAIB RANA, Last updated: Mon, 25th Oct 2021, 7:41 PM IST
  • उपचुनाव के माहौल में बिहार की धरती पर राजद मुखिया लालू प्रसाद यादव लौट आए हैं. 27 अक्टूबर से आरजेडी चीफ तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर प्रचार शुरू करेंगे.
बिहार में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ( Lalu Prasad Yadav Photo During RJD election campaigning ) File Photo

पटना. बिहार में तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए हो रहे राजनीतिक दंगल के बीच आरजेडी प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव रविवार को पटना पहुंचे. खबर है कि 27 अक्टूबर से लालू यादव इन दोनों सीटों पर प्रचार करना भी शुरू कर देंगे. इससे पहले उनका दिल्ली में इलाज चल रहा था, इसलिए राष्ट्रीय जनता दल के स्टार प्रचारक लालू के प्रचार को लेकर भी संशय बना हुआ था. साथ ही पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने भी कुछ समय पहले कहा था कि लालू अभी बीमार हैं, इसलिए बिहार नहीं आएंगे. राबड़ी के बयान के बाद लालू के प्रचार में शामिल होने के कयासों को हवा मिल गई थी. हालांकि, अब साफ है कि लालू एक बार फिर बिहार के उपचुनाव में अपनी जमीनी मजबूती दिखाने ग्राउंड पर उतरेंगे.

राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने इस मामले में कहा कि लालू यादव के चुनाव प्रचार के उतरने से बड़ा असर होगा. इसके बाद हम चार गुना ज्यादा वोटों से जीत हासिल करेंगे. विरोध कैंडिडेट अपनी जमानत तक नहीं बचा पाएंगे. जनता को अपने नेता लालू प्रसाद यादव को बेसब्री से इंतजार है. राजद प्रवक्ता ने कहा कि अब लालू प्रसाद यादव फुल फॉर्म में आ गए हैं, दो नवंबर के बाद बिहार में बड़ा खेला होगा.

पारिवारिक कलह खत्म करने में लगे RJD सुप्रीमो, लालू यादव ने तेज प्रताप को मिलने बुलाया

मालूम हो कि चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव जमानत मिलने के बाद से ही दिल्ली अपनी बेटी मीसा के घर रहकर इलाज करवा रहे हैं. रविवार को पूर्व सीएम लालू बिहार की धरती पर वापस पहुंचे. राजधानी पटना में उतरते ही उनका तेजस्वी यादव समेत आरजेडी के सभी नेता और कार्यकर्ताओं ने गर्मजोशी से स्वागत किया. लालू सीधा राबड़ी आवास पर पहुंचे.

लालू यादव के विवादित बयान से खफा कांग्रेस, कहा- हमारे बिना CM कैसे बनेंगे तेजस्वी यादव

हालांकि, इस बीच उनके बेटे तेजप्रताप यादव के विवाद की भी खबर आई. कहा जा रहा है कि लालू के आने के बाद बड़े बेटे तेजप्रताप पिता से मिलने मां राबड़ी के आवास पर पहुंचे थे जहां उन्हें एंट्री नहीं दी गई. इसके बाद नाराज होकर तेजप्रताप अपने आवास के बाहर धरने पर बैठ गए थे. हालांकि, लालू और राबड़ी ने उनसे देर रात मिलने पहुंचे और सारा झगड़ा शांत हो गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें