जाति जनगणना में सांप-बिच्छू, तोता-मैना, हाथी-घोड़ा गिनेगी सरकार लेकिन पिछड़ों को नहीं: लालू

Nawab Ali, Last updated: Fri, 24th Sep 2021, 9:25 PM IST
  • राष्ट्रिय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव ने जातीय जनगणना को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. लालू यादव ने कहा है कि देश में सांप-बिच्छू,तोता-मैना, हाथी-घोड़ा, कुत्ता-बिल्ली, सुअर-सियार सहित सभी पशु-पक्षी पेड़-पौधों की गिनती की जाएगी लेकिन पिछड़े-अतिपिछड़े वर्गों के इंसानों की गिनती नहीं होगी.
लालू यादव ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा है. (फोटो साभार फेसबुक लालू यादव)

पटना. आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने जातीय जनगणना को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है. लालू यादव ने जातीय जनगणना के मुद्दे पर कहा है कि देश में सांप-बिच्छू,तोता-मैना, हाथी-घोड़ा, कुत्ता-बिल्ली, सुअर-सियार सहित सभी पशु-पक्षी पेड़-पौधे गिने जाएंगे लेकिन पिछड़े-अतिपिछड़े वर्गों के इंसानों की गिनती नहीं की जाएगी, वाह! लालू यादव ने आरएसएस-भाजपा पर को आड़े हाथों लेते हुए पूछा है कि उन्हें पिछड़ों-अति पिछड़ों से इतनी नफरत क्यों?

लालू यादव ने इसी के साथ कहा कि जातीय जनगणना से सभी वर्गों का भला होगा. इससे सबकी वास्तविक स्थिति का पता चलेगा. देश की नरेंद्र मोदी सरकार व आरएसएस पिछड़ा-अतिपिछड़ा वर्ग के साथ बहुत बड़ा छल कर रहा है. अगर केंद्र सरकार जनगणना फॉर्म में एक अतिरिक्त कॉलम जोड़कर देश की कुल आबादी के 60 फीसदी से अधिक लोगों की जातीय गणना नहीं कर सकती तो ऐसी सरकार और इन वर्गों के चुने गए सांसदों व मंत्रियों पर धिक्कार है. राजद सुप्रीमो लालू यादव ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐसे लोगों का सामूहिक सामाजिक बहिष्कार हो.

बेटों ने अपमान कर घर से निकाला तो इन बुजुर्गों ने जिंदा रहते किया अपना पिंडदान 

लालू यादव ने केंद्र सरकार के जातीय जनगणना को लेकर मना कर दिया है. जिसके बाद लालू यादव ने जातीय जनगणना को लेकर कहा कि देश की तमाम राजनीतिक पार्टियां जातीय इसकी मांग कर रही हैं. बिहार में खुद भाजपा की सहयोगी नीतीश कुमार सरकार मुखर होकर जातीय जनगणना की मांग कर रही है. बता दें कि सीएम नीतीश कुमार ने कई पार्टी के नेताओं के साथ पीएम नरेंद्र मोदी से दिल्ली में मुलाकात की थी. इसी के साथ आज ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी बयान दिया है कि जातीय जनगणना के मुद्दे को महागठबंधन की बैठक में उठाया जायेगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें