रामविलास पासवान को लालू ने बताया दलितों का मसीहा, देशरत्न उपाधि की मांग उठाई

Nawab Ali, Last updated: Sat, 9th Oct 2021, 9:50 AM IST
  • राजद प्रमुख लालू यादव 20 अक्टूबर को तीन साल बाद पटना जायेंगे. राम विलास पासवान की पुण्तियथि में पहुंचे लालू यादव ने उन्हें दलितों का मसीहा बताया साथ ही देशरत्न उपाधि दें की मांग की है.
दिल्ली में रमाविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित करते लालू यादव.

पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री आरजेडी प्रमुख लालू यादव तीन साल बाद 20 अक्टूबर को पटना आयेंगे. शुक्रवार को आरजेडी विधायक दल की बैठक के बाद भाई वीरेंद्र ने जानकारी दी है. दिल्ली में राम विलास पासवान की पहली पुण्यतिथि में पहुंचे लालू यादव ने बड़ा बयान दिया है. लालू यादव ने कहा है कि राम विलास पासवान दलितों के मसीहा रहे हैं उन्हें देशरत्न की उपाधि दी जाए. साथ ही उन्होंने कहा है कि हर परिस्थिति में हम खड़े हैं और हमारा आशीर्वाद चिराग के साथ है.

आरजेडी प्रमुख लालू यादव अपने अलग ही अंदाज के लिए जाने जाते हैं. लालू यादव दिल्ली में दिवंगत राम विलास पासवान की पहली पुण्यतिथि में पहुंचे. वहां उन्होंने रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि अर्पित की. मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा है कि राम विलास पासवान सामाजिक न्याय, धर्मनिरपेक्षता अल्पसंख्यकों और दलितों के नेता रहे हैं. हमने और राम विलास पासवान ने साथ ही राजनीति की शुरुआत की है. लालू यादव ने राम विलास पावस को देशरत्न उपाधि देने की मांग की है. साथ ही चिराग पासवान के साथ हर परिस्थिति में साथ खड़े होने की बात कही है.

विश्व डाक दिवस: चिट्ठी से लेकर मजबूत बैंकिंग सिस्टम, समय के साथ डाक विभाग अपडेट हुआ

बिहार की तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा पर उपचुनाव होने हैं जिसके लिए फिर से लालू यादव राजद के लिए चुनाव प्रचार करेंगे. तीन साल से पटना से दूर लालू यादव 20 अक्टूबर को पटना जायेंगे. स्टार प्रचारकों की सूची में लालू यादव का नाम पहले नंबर पर है. लालू यादव ने उपचुनाव में दोनों सीटों पर राजद की जीत का दावा भी किया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें