RJD ने की नीतीश से JDU, BJP की शिकायत, No 1 से क्यों बड़ा है पार्टी नंबर 2 और 3 का दफ्तर

Prachi Tandon, Last updated: Sat, 4th Sep 2021, 12:26 AM IST
  • राजद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने एक बड़ी डिमांड रखी है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने सीएम को पत्र लिखकर कहा है कि राज्य में विधायकों की संख्या के हिसाब से 3 नंबर पार्टी जेडीयू को पार्टी कार्यालय के लिए सबसे ज्यादा जमीन दी गई है जबकि 1 नंबर पार्टी आरजेडी को नंबर 2 पार्टी बीजेपी से भी कम जमीन मिली है.
राजद ने कार्यालय बनाने के लिए नीतीश सरकार से की 14 हजार वर्ग फीट जमीन की मांग

पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने लालू यादव की पार्टी आरजेडी ने एक विचित्र शिकायती मांग रखी है. जगदानंद सिंह ने सीएम को पत्र लिखकर कहा है कि राज्य में विधायकों की संख्या के हिसाब से आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी है लेकिन उसे पार्टी दफ्तर के लिए दूसरे नंबर की पार्टी बीजेपी और तीसरे नंबर की पार्टी जेडीयू से भी कम जमीन मिली है. जगदानंद सिंह ने पार्टी के कामकाज में हो रही दिक्कतों को हवाला देते हुए सरकार से राजद कार्यालय के लिए 14000 वर्गफीट जमीन देने की मांग की है.

जगदानंद सिंह ने बिहार सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि क्या यही सीएम नीतीश कुमार का न्याय का सिद्धांत है. जगदानंद ने न्याय का हवाला देते हुए कहा है कि राजद को 14 हजार वर्ग फीट जमीन दी जाए. जगदानंद ने कहा कि न्याय सिद्धांत कहता है कि सभी को बराबर आवंटन किया जाए लेकिन अफसोस बिहार में ऐसा नहीं हो रहा है. जगदानंद ने सरकार को लिखे पत्र में कहा है कि जदयू, भाजपा और राजद तीनों के ऑफिस वीरचंद पटेल मार्ग पर आसपास में हैं. तीनों के कार्यालयों के जमीन आवंटन में बड़ा अंतर है. 

CM नीतीश ने किया पटना सिटी का दौरा, गुरु का बाग में जाकर लिया जायजा

सरकार को लिखे पत्र में जगदानंद ने कहा कि राजद को सबसे कम जमीन दी गई है. वहीं जदयू को सबसे ज्यादा जमीन आवंटित की गई है. बीजेपी को भी राजद से ज्यादा जमीन मिली है. ऐसे में राजद कार्यालय के बराबर में खाली पड़े प्लाट को राजद को आवंटित करना चाहिए. जगदानंद ने पत्र में लिखा है कि जगह कम होने के कारण कई जरूरी कामों में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. इसी के साथ कई आरोप लगाते हुए जगदानंद ने जदयू समेत नीतीश सरकार को घेरा है. 2020 के विधानसभा चुनाव में आरजेडी 75, बीजेपी 74 और जेडीयू 43 सीट जीती थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें