चारा घोटाला केस सुनवाई से पहले लालू यादव ने की पूजा, नाश्ते में खाईं पूड़ी-जलेबी और दही

Ankul Kaushik, Last updated: Tue, 15th Feb 2022, 11:20 AM IST
  • बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू यादव के लिए आज मंगलवार का दिन काफी अहम है. आज मंगलवार को चारा घोटाले के डोरंडा कोषागार मामले में सीबीआई की विशेष अदालत फैसला सुनाने वाली है. इस फैसले से पहले लालू यादव ने सुबह पूजा पाठ में लीन होकर नाश्ते में पूड़ी, सब्जी, जलेबी और दही खाया.
राजद प्रमुख लालू यादव

पटना. चारा घोटाले के डोरंडा कोषागार मामले में सीबीआई की विशेष अदालत रांची में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू यादव का फैसला सुनाएगी. इस फैसले की सुनवाई के लिए लालू यादव पहले ही रांची पहुंच गए हैं और वह रांची के गेस्ट हाउस में है. आज मंगलवार को आने वाले इस फैसले की सुनावाई से पहले लालू यादव सुबह जल्दी उठे. इसके बाद वह शौच के बाद फ्रेश हुए और फिर उन्होंने स्नान किया, वहीं लालू यादव काफी समय तक पूजा पाठ में लीन हुए. फिर उन्होंने पपीता खाया और फिर नाश्ते में पूड़ी, सब्जी, जलेबी और दही खाकर नेताओं से बातचीत की. वहीं सोमवार को लालू यादव रांची के गेस्‍ट हाउस में अलाव तापते नजर आए थे और इस दौरान वह चिंतित नजर आ रहे थे. हालांकि वह परिवार के सदस्‍यों से बात कर खुद को हल्‍का करने की कोशिश कर रहे थे.

लालू यादव के इस फैसले को लेकर स्टेट गेस्ट हाउस में भारी गहमागहमी है और झारखंड ही नहीं बल्कि बिहार नम्बर की गाड़ियों से गेस्ट हाउस खचाखच भरा हुआ है. लालू यादव से मिलने के लिए बड़े नेता 2 दिन से रांची आ रहे हैं. इसके साथ ही राजद के कार्यकर्ताओं के अंदर भी सुनवाई से पहले बेचैनी है. वहीं लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती रेडिसन ब्लू होटल से स्टेट गेस्ट हाउस पहुंचती हैं. लालू यादव के अलावा रांची स्टेट हाउस में अब्दुल बारी सिद्दीकी, श्याम रजक, भोला यादव, श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता, निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष अभय सिंह, युवा मोर्चा के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष रंजन यादव समेत स्टेट गेस्ट में मौजूद हैं.

चारा घोटाला: आसान नहीं थी लालू यादव की गिरफ्तारी, CBI ने सेना से मांगी थी मदद

सीबीआई की विशेष अदालत आज यानी मंगलवार को चारा घोटाले केस में सबसे बड़े यानी डोरंडा ट्रेजरी से अवैध निकासी मामले में फैसला सुनाने वाली है. इस केस में लालू प्रसाद यादव समेत कुल 110 अभियुक्त हैं और इस मामले की सुनवाई के लिए आज आरोपी लालू प्रसाद समेत सभी अभियुक्त रांची में हैं. बता दें कि लगभग 23 साल पुराना इस मामले में साल 1990 से 1995 के बीच झारखंड के डोरंडा स्थित ट्रेजरी से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी हुई थो जो कि चारा घोटाले का सबसे बड़ा मामला है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें