तेजप्रताप का नीतीश पर हमला-15 साल में जितने घोटाले हुए उतने वर्णमाला में वर्ण नहीं

Smart News Team, Last updated: 11/02/2021 07:04 PM IST
  • राजद के नेता तेज प्रताप यादव ने नीतीश कुमार का नाम लिए बगैर ट्वीट करते हुए निशाना साधा कि 15 साल के शासनकाल में जितना घोटाला हुआ है उतनी संख्या तो वर्णमाला की नहीं है.
राजद नेता तेज प्रताप यादव ने सीएम नीतीश कुमार का नाम लिए बिना उन पर निशाना साधा. प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना. राजद नेता तेज प्रताप यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बिना नाम लिए निशाना साधा है. तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा कि 15 सालों में जितना घोटाला किया है उतनी में वर्णमाला की भी संख्या नहीं है. राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने नीतीश सरकार पर आरोप लगाया कि शिक्षा के साथ बेरोजगार नौजवानों के प्रति सरकार की मंशा ठीक नहीं है.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि क से किसान क्रेडिट घोटाला ख से खाद सब्सिडी घोटाला ग से ग्रामीण घोटाला घ से घोटालों के सरदार ने 15 सालों के अपने शासनकाल में जितना घोटाला किया है उतना तो हिन्दी वर्णमाला में वर्णों की संख्या भी नहीं है.

बिहार दौरे पर RSS प्रमुख मोहन भागवत, संघ कार्यकर्ताओं के साथ की बैठक

वहीं राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षक बहाली को मजाक बना दिया है. सरकार की ओर से जारी नए आदेश के अनुसार, सभी स्तरों के विद्यालयों में शिक्षण कार्य के लिए अवकाश प्राप्त शिक्षकों को अनुबंध पर बहाल करने को कहा गया है. उन्होंने कहा कि विभिन्न स्तर के विद्यालयों में बड़ी संख्या में शिक्षकों के लाखों पद खाली हैं लेकिन नियुक्ति प्रक्रिया को जानबूझकर सालों से लटकाकर रखा गया है. इस वजह से छात्रों की पढ़ाई बाधित हो रही है.

पासपोर्ट बनवा रहे हैं तो कैसे कराएं ऑनलाइन पुलिस वेरीफिकेशन, जानें फुल डिटेल्स

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए कहा कि हमारे द्वारा जमीनी सच्चाई से अवगत कराने के बावजूद सीएम और स्वास्थ्य मंत्री बड़े अहंकार से दावे करते थे कि बिहार में सही टेस्ट हो रहे हैं. उन्होंने कहा, टेस्टिंग के झूठे दावों के पीछे का असली खेल अब सामने आया है कि फर्जी टेस्ट दिखाकर नताओं और अधिकारियों ने अरबों रुपयों का भारी बंदरबांट किया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें