तेजस्वी ने CM नीतीश को लिखा पत्र, बोले- केस न करें तो करना चाहता हूं लोगों की मदद

Smart News Team, Last updated: Tue, 18th May 2021, 10:06 PM IST
  • राजद नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को चिट्टी लिखी है. इसे उन्होंने ट्विटर पर शेयर किया है. तेजस्वी ने इस पत्र में सीएम से अस्पताल में जाकर मरीजों की मदद करने की परमिशन मांगी. उन्होंने कहा कि लोगों की मदद करना चाहते हैं बशर्ते मुकदमा न किया जाए.
राजद नेता तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार को लिखे पत्र को ट्विटर पर शेयर किया.

पटना. कोरोना संकट के बीच राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि वे मदद करना चाहते हैं बशर्तें सरकार उन पर मुकदमा न करे. तेजस्वी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखा है. इस चिट्ठी को उन्होंने ट्विटर पर शेयर किया है. इस पत्र में तेजस्वी यादव ने बिहार के सभी विधायकों और अपने लिए अस्पतालों और कोविड सेंटर में जाकर मदद करने की अनुमति मांगी है. 

तेजस्वी ने इस चिट्टी को शेयर करते हुए लिखा कि माननीय मुख्यमंत्री से स्वास्थ्य व्यवस्था, बचाव और राहत कार्य दुरुस्त करने और कराने के उद्देश्य से विशेष अनुमति के लिए पत्र लिखा है. उन्होंने कहा कि एक महीने पहले सर्वदलीय बैठक में हमने 30 महत्वपूर्ण सुझाव दिए थे लेकिन किसी पर भी अमल नहीं हुआ. सरकार न विफलताओं से सीख रही है और न विपक्ष की सुन रही.

लालू यादव का नीतीश सरकार पर हमला, कहा- मौत का आंकड़े छुपा रहे सत्ता में बैठे लोग

सीएम नीतीश कुमार को लिखे पत्र में तेजस्वी यादव ने कहा कि हाल के वर्षों में देखा गया है कि अनेकों बार जब-जब जनहित मुद्दों के को लेकर मैं सड़क पर निकला हूं, तब-तब मुझ पर महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की लचर अव्यवस्था और असेंवदनशीलता से जूझती जनता के लिए हम और हमारे सभी विधायकगण अपने-अपने क्षेत्रों में लोगों को जरूरी दवाएं, ऑक्सीजन सिलेंडर और बेड मुहैया करा रहे हैं.

सुशील मोदी ने पूछा- लालू और राबड़ी ने क्यों नहीं लगवाया वैक्सीन, ये मिला जवाब

तेजस्वीय यादव ने कहा कि हम जिम्मेदार विपक्ष हैं और मैं स्वयं भी एक संवैधानिक पद पर हूं. ऐसे में मुझे राज्य के लोगों की समस्या को जानने और उसके समाधान के लिए सरकार के कदमों को जानने और जनहित में इनकी कमियों को सरकार के सामने लाने का अधिकार है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें