राजद की नीतीश कुमार को खुली चनौती-कहा अपने विधायकों को बचा सकते हो तो बचा लो

Smart News Team, Last updated: Thu, 31st Dec 2020, 3:48 PM IST
  • राजद प्रवक्ता मृत्यंजय तिवारी ने जदयू को चुनौती देते हुए कहा है कि जदयू मे टूट होना तय हो चुका है, पार्टी अगर अपने विधायकों को बचा सकती है तो बचा ले.
राजद की नीतीश कुमार को खुली चनौती-कहा अपने विधायकों को बचा सकते हो तो बचा लो

पटना: कड़कड़ाती ठंड के बीच बिहार की सियासी माहौल में गर्मी छा गई है. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में काफी कम सीटों के अंतर से सत्ता पर काबिज़ हुए सत्ताधारी गबंधन के मुख्य साझीदार जदयू और मुख्य विपक्षी दल राजद के बीच तनातनी छिड़ गई है. वहीं अरूणाचल प्रदेश की घटना के बाद राजद लगातार जदयू पर सियासी वार करने में लगा है. एक बार फिर से राजद ने जदयू विधायकों के पार्टी छोड़ने की सलाह दी है. राजद ने जदयू को खुली चुनौती देते हुए कहा कि नितीश कुमार अपने विधायकों को बचा सकते हैं तो बचा लें. राजद ने बताया है कि जदयू मे अब टूट निश्चित है.

राजद प्रवक्ता मृत्यंजय तिवारी ने पार्टी सहयोगी और पूर्व मुख्यमंत्री श्याम रजक के बयान से दो कदम आगे बढ़ते हुए आजतक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए बताया कि जदयू में अब टूट होना तय है और जल्द ही जदयू विधायक पार्टी छोड़ राजद मे शामिल होंगे. तिवारी ने जदयू को चुनौती देते हुए कहा है कि जदयू मे टूट होना तय हो चुका है. पार्टी अगर अपने विधायकों को बचा सकती है तो बचा ले.

17 विधायक JDU छोड़ RJD में जाने के दावे पर बोेले CM नीतीश- सब बेबुनियाद है

बताते चलें कि हाल ही मे अरुणाचल प्रदेश में जदयू के सात मे से 6 विधायक बीजेपी मे शामिल हो गए. अरूणाचल प्रदेश के रमगोंग विधानसभा क्षेत्र के तालिम तबोह, चायांग्ताजो‌ के हेयेंग मंग्फी, ताली के जिकके ताको, कलाक्क्तंग के दोरजी वांग्दी खर्मा, बेमडिला के डोंगरू सियनग्जू और मलियाना-गेकु निर्वाचन क्षेत्र के कांगगोंग टाकू जदयू छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए. जिससे राष्ट्रीय जदयू महकमा नाराज़ चल रहा है.

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी, क्या 2021 होगा तबाही का साल, विनाश के बड़े संकेत दिए

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें