केंद्र सरकार के तीन विधेयकों के खिलाफ किसान आंदोलन को RJD का समर्थन, धरना जारी

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 02:41 PM IST
  • राजेडी ने केंद्र सरकार के बनाए तीन कानूनों का निरस्त करने की मांग की है और इसे लेकर धरने शुरू कर दिये हैं. पार्टी ने साफ किया है कि अगर सरकार पीछे नहीं हटती है तो कार्यकर्ता अपनी हलचल करेेंगे और पीएम नरेंद्र मोदी और अन्य लोगों के पुतले जलाएंगे. साथ ही केंद्र सरकार की एमएसपी को लेकर नीति पर बड़ा सवाल खड़े किये हैं.
पटना के गांधी मैदान में किसानों के समर्थन में प्रदर्शन करते हुए राजद कार्यकर्ता.

पटना. शनिवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने तीन कृषि विधेयक के खिलाफ किसानों को आंदोलन समर्थन दिया है. राजेडी ने केंद्र सरकार के बनाए तीन कानूनों का निरस्त करने की मांग की है और इसे लेकर धरने शुरू कर दिये हैं. पार्टी ने साफ किया है कि अगर सरकार पीछे नहीं हटती है तो कार्यकर्ता अपनी हलचल करेेंगे और पीएम नरेंद्र मोदी और अन्य लोगों के पुतले जलाएंगे. साथ ही केंद्र सरकार की एमएसपी को लेकर नीति पर बड़ा सवाल खड़े किये हैं. 

जैसे की कल घोषणा की गई थी बिहार विधानसभा के नेता विपक्षी तेजस्वी प्रसाद यादव गांधी मैदान में महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास धरना का नेतृत्व कर रहे हैं. साथ ही बिहार  के किसानों को इस विरोध में शामिल होने का आग्रह किया गया है.भाजपा सरकार कृषि उत्पादों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की व्यवस्था को बंद करने और कॉर्पोरेट्स को खेती करने के लिए कानून लेकर आई है.

भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि एमएसपी को उत्पादन की कुल लागत के 50% से अधिक करने के अपने वादे के साथ भाजपा ने क्या किया? आगर एक बार कॉरपोरेट्स का खेती में आने के बाद किसान एमएसपी प्राप्त नहीं कर पाएंगे. बड़ी मात्रा में स्टॉक करने से अनाज, दाल, आलू, प्याज, आदि किसानों के कब्जे से समाप्त हो जाते हैं, कॉर्पोरेट्स वस्तुओं के बाजार मूल्य को अत्यधिक बढ़ा देंगे.

फील्ड में एक जगह लंबे समय से ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों का तबादला, आदेश जारी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें