कोरोना का असर: शनिवार फुल डे, जरूरत पड़ी तो रविवार को भी खुलेंगे स्कूल

Smart News Team, Last updated: 02/06/2020 09:17 PM IST
  • अब से स्कूलों में शनिवार को हाफ डे नहीं चलेगा। शनिवार को अब पूरे दिन पढ़ाई होगी। इसके अलावा अगर जरूरत पड़ेगी तो रविवार को भी स्कूल खोले जा सकते हैं।
Generic Image

अब से स्कूलों में शनिवार को हाफ डे नहीं चलेगा। शनिवार को अब पूरे दिन पढ़ाई होगी। इसके अलावा अगर जरूरत पड़ेगी तो रविवार को भी स्कूल खोले जा सकते हैं। मानव संसाधन मंत्रालय के निर्देश के बाद सीबीएसई और आईसीएसई के स्कूलों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। स्कूल का रूटीन अब आठ दिनों का होगा। समय पर सिलेबस खत्म हो, इसके लिए शनिवार को पूरे दिन क्लास चलेगी।

ज्ञात हो कि मंत्रालय ने पहले ही बच्चों के रौल नंबर को ऑड-इवेन के अनुसार बुलाने की आदेश दिया है। ऐसे में एक बच्चा केवल तीन दिन स्कूल आयेगा। बाकी तीन दिन विद्यार्थी घर से ऑनलाइन पढ़ाई करेंगे। ऐसे में शनिवार और जरूरत हुई तो रविवार को भी स्कूल खोला जा सकता है। अभी तक तमाम स्कूलों में शनिवार को हाफ डे होता था। लेकिन अब हाफ डे नहीं होगा। यह व्यवस्था कक्षा एक से 12वीं तक लागू रहेगी।

हर हफ्ते तीन पीरियड होगी अधिक

शनिवार को पूरे दिन कक्षा चलने से सिलेबस पूरा करने में सुविधा मिलेगी। हर सप्ताह तीन पीरियड अधिक पढ़ाई होगी। ऐसे में फरवरी तक हर शनिवार पूरे दिन कक्षा चलेगी 84 से 90 कक्षाएं अतिरिक्त चलेगी। इसका फायदा छात्रों को सीधा होगा।

अगस्त में ही सही से खुल पाएंगे स्कूल

जून में गर्मी की छुट्टी और लॉकडाउन के कारण स्कूल लगभग बंद ही रहेगा। इसके बाद एक से 15 जुलाई तक बोर्ड परीक्षा है। फिर स्कूल नियमित रूप से खुल पायेगा। जुलाई अंतिम सप्ताह या अगस्त के पहले सप्ताह से सुचारू रूप से ही स्कूल खुल पायेगा। डान बास्को एकेडमी की प्राचार्य मेरी अल्फांसो ने बताया कि स्कूल खुलने के बाद सबसे बड़ा चैलेंज सोशल डिस्टेंसिंग रहेगा। इसे हमें मेनटेन करनी हैं।

सेंट डॉमिनिक सोवियोज के निदेशक जीजे गाल्स्ट्रॉन ने कहा कि जून में ऑनलाइन क्लासेस चल रहे हैं। प्रशासन के आदेश के बाद जब स्कूल खुलेगा तो रूटीन में बदलाव होगा। चुकी कई बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई से जुड़ नहीं पायें है। ऐसे में उन बच्चों के सिलेबस पूरा करने के लिए शनिवार या फिर रविवार को भी जरूरत होगा तो स्कूल खोला जायेगा।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें