कोरोना महामारी के बीच बजी स्कूलों की घंटी, लेकिन ऑनलाइन पढ़ाई का भी रखना होगा विकल्प

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 28th Sep 2021, 8:31 AM IST
  • कोरोना महामारी की दूसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद कुछ राज्यों में स्कूलों को फिर से खोला गया है. लेकिन स्कूलों को अब भी ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन पढ़ाई का विकल्प रखना होगा. 
स्कूलों खुलने के बाद भी ऑनलाइन पढ़ाई का रखना होगा विकल्प

पटना.  कोरोना संक्रमण के मामले को नियंत्रित करने एवं बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए गृह विभाग के आदेशों का पालन कराने के लिए जिला स्तर पर प्रयास कर रहा है. शिक्षण संस्थान, दुकान ,प्रतिष्ठानों, सार्वजिन स्थल लेकर कोचिंग क्लास और स्कूल भी सामान्य रूप से खोले जा रहे हैं. कोरोना महामारी की दूसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद स्कूलों की घंटी भी फिर से बजी है, लेकिन कोरोना की तीसरी लहर की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है. इसलिए स्कूलों को ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन क्लास के लिए भी तैयार रहने की जरूरत है.

पटना जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने निर्देश जारी किया है, जिसके मुताबिक फिलहाल राज्य में सभी स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान सामान्य रूप से खोले जा सकेंगे. कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति आवासीय विद्यालय व कर्पूरी छात्रावासों का संचालन पहले की भांति जारी रहेगा.

REET 2021: शिक्षा मंत्री डोटासरा ने दी जानकारी, इस दिन आएगा रीट 2021 परीक्षा का रिजल्ट

इसके अलावा कोरोना संक्रमण के मामले को नियंत्रित करने एवं बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए गृह विभाग के आदेशों का पालन कराने के लिए जिला स्तर पर शिक्षण संस्थान, दुकान एवं प्रतिष्ठानों के लिए निर्देश जारी किया गया है. लेकिन मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना, काउंटरों पर सेनेटाइजर की व्यवस्था और चुके व्यक्तियों को ही सिर्फ काम करने की अनुमति होगी.

कोचिंग संस्थानो को भी सामान्य रूप से खोलने की अमुमति दी गई है. लेकिन टीका ले चुके व्यक्ति को ही कोचिंग में काम करने की अनुमति होगी. वहीं विवाह , मेला , सिनेमा हॉल और सांस्कृतिक कार्यक्रम को लेकर पहले की तरह ही निर्देश जारी रहेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें