CBSE 10-12 वीं प्री बोर्ड परीक्षा होगी ऑफलाइन, ऑनलाइन के लिए बताना होगा ठोस वजह

Smart News Team, Last updated: 07/12/2020 10:10 AM IST
  • कोरोना काल में जनवरी महीने में 10 और 12 वीं बोर्ड के छात्रों को प्री बोर्ड की परीक्षा आयोजित होगी. सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के छात्रों को परीक्षा स्कूल में आकर देना होगा. प्री बोर्ड की परीक्षाओं में उन छात्रों को छूट मिलेगा, जो शहर से बाहर होंगे. 
जनवरी महीने में 10 और 12 वीं बोर्ड के छात्रों को प्री बोर्ड की परीक्षा आयोजित होगी.

पटना. कोरोना संक्रमण के बीच 10 और 12 वीं बोर्ड के छात्रों को प्री बोर्ड की परीक्षा स्कूल में आकर देना होगा. कोरोना काल में अभी तक सभी परीक्षाएं ऑनलाइन माध्यम से हुईं हैं. लेकिन इस परीक्षा को ऑनलाइन मोड में न लेकर ऑफलाइन मोड में लिया जाएगा. इसके लिए राजधानी पटना के कई स्कूलों ने शेड्यूल जारी कर दिया है. स्कूल प्रशासन स्कूल में आकर प्री बोर्ड की परीक्षाओं में उन छात्रों को छूट देगा, जो शहर के बाहर होंगे, लेकिन इसके लिए छात्रों को ठोस वजह बताना होगा. इसके बाद ही स्कूल प्रशासन उन छात्रों को छूट देने पर विचार करेगा.

बता दें कि जनवरी महीने के पहले हफ्ते में सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड द्वारा संचालित स्कूलों में प्री बोर्ड की परीक्षाएं शुरू होंगी. इसके लिए कई स्कूलों ने शेड्यूल भी जारी कर दिया है. कोरोना काल में होनी वाली परीक्षा को देखते हुए छात्रो के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल जारी किया गया है. बोर्ड परीक्षा से पहले प्री बोर्ड परीक्षा आयोजित होती है. 

श्राद्ध भोज में औरतों से वार्ड सदस्य ने की छेड़खानी, डंडों से पुरुषों को पीटा

इस बार प्री बोर्ड के परीक्षा में एक कमरे में 12 छात्रों को बैठा जाएगा. अगर क्लास छोटी होगी तो उसमें में 12 से कम छात्रों को बैठाने का नियम तक किया गया है. कोरोना संक्रमण को देखते हुए दो छात्रों के बीच की दूरी 2 से 3 मीटर होगी. परीक्षा कक्ष में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही छात्रों को परीक्षा के दौरान मास्क लगाना जरूरी होगा. इसके अलावा छात्रों को अपने साथ हैंड सेनेटाइजर भी रखना होगा. 

बाबरी मस्जिद से जुड़े पोस्टर पर बोले डिप्टी CM- अशांति फैलाने वालों पर होगी कार्रवाई

कोरोना संक्रमण के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए इस बार एक विषय की परीक्षा कई दिनों तक आयोजित होगी. एक ही कक्षा के छात्रों को अलग-अलग दिन बुलाया जाएगा. इसके लिए स्कूल प्रशासन अलग-अलग प्रश्न पत्र तैयार करेगा. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें