सेकेंड हैंड कार खरीदने से पहले ये सब चेक कर लें, नहीं तो पुलिस भेज सकती है जेल

Smart News Team, Last updated: Tue, 27th Jul 2021, 12:03 PM IST
  • राजधानी पटना में कार गैराज में चोरी की गाड़ी बेचने का पुलिस ने खुलासा किया है. आरोपी गैराज मालिक को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर पाई है.
  • ये चोरी की गाड़ियां बेची जाती हैं और सेकेंड हैंड गाड़ी खरीदने वालों को इसकी जानकारी नहीं हो पाती की गाड़ी चोरी की है.
पुलिस ने पटना में कार डीलर द्वारा चोरी की गाड़ी बेचने का खुलासा का खुलासा किया है.

पटना. अगर आप भी सस्ती पुरानी कार खरीदने जा रहे हैं तो, बड़ी सावधानी बरतने की जरूरत है. नहीं तो आपको कार का सौदा करना महंगा पड़ सकता है. जी हां पटना में एक कार डीलर सस्ते दामों पर चोरी की गाड़ी दूसरे राज्यों में बेचता था. पुलिस ने कार डीलर के गैराज से चोरी की गाड़ी बरामद की है. देशभर में पुरानी कार खरीदने बेचने का चलन बढ़ा है. बड़े बड़े कार डीलर आपको देश के हर शहर में देखने को मिल जाएंगे. जहां आप कोई भी गाड़ी खरीद व बेच सकते हैं. कार डीलर इस धंदे में बिचौलिया की भूमिका अदा करते हैं. पुरानी कार खरीद कर उसे चमका कर मोटे दामों में बेचते हैं. 

आपको जानकर हैरानी होगी कि पटना में एक कार डीलर चोरी की गाड़ी का धंधा करने का मामला सामने आया है. राजीव नगर के दीघा आशियाना रोड स्थित वैष्णवी मोटर के गैराज से चोरी की गाड़ी बरामद हुई है. गैराज का मालिक चोरी की गाड़ी बिहार समेत यूपी व झारखंड में बेचता था. गैराज मालिक राकेश मिश्रा अभी फरार चल रहा है. इससे बचने के लिए आप भी आरसी पेपर को उस आरटीओ या डीटीओ ऑफिस जाकर चेक करें कि कागजों में जो गाड़ी मालिक है वो सही में गाड़ी का मालिक है या नहीं. हो सकता है कि गाड़ी का फर्जी रजिस्ट्रेशन हुआ हो. आरटीओ से इसकी सही जानकारी मिलेगी. साथ ही आरसी पर प्रिंटेड चासिस और इंजन नंबर को भी चेक करें और आरटीओ के रिकोर्ड से मिलाएं.

विधानसभा पिटाई कांड: NDA मीट में RJD विधायकों पर अवमानना एक्शन की मांग उठी

बता दें कि पुलिस इस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है. पुलिस की तहकीकात में खुलासा हुआ कि गैराज मालिक चोरी की गाड़ियों को बिहार समेत यूपी व झारखंड में बेचता था. हालांकि आरोपी मालिक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. पुलिस आरोपी गैराज मालिक की कॉल डिटेल रिकॉर्ड निकलवा रही है ताकि पूरे नेटवर्क का खुलासा हो सके.गैराज के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें