शक्ति मलिक हत्याकांड: तेजस्वी बोले- राजनीतिक साजिश के तहत हमें फंसाया गया

Smart News Team, Last updated: 08/10/2020 07:46 PM IST
तेजस्वी यादव ने कहा कि पूर्णिया में राजद नेता की हत्या के मामले में मुझपर और मेरे भाई पर राजनीतिक साजिश के तहत आरोप लगाए गए
RJD नेता तेजस्वी यादव

बिहार के पूर्णिया जिले में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के पूर्व नेता शक्ति मलिक हत्याकांड को लेकर एसपी विशाल शर्मा ने कई बड़े खुलासे किए हैं. इस मामले में राजद नेता तेजस्वी यादव और उनके भाई का नाम घसीटा जा रहा था. हालांकि पुलिस ने इस मामले में 7 अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने साफ कर दिया कि हत्याकांड में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, उनके भाई तेज प्रताप यादव समेत सभी नामजद छह राजद नेताओं का कोई हाथ नहीं है. मामले में क्लीन चिट मिलने के बाद तेजस्वी यादव खुलकर सामने आए और नीतीश सरकार पर बड़ा हमला किया.

बिहार चुनाव: उपेंद्र कुशवाहा और ओवैसी ने बनाया ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट

तेजस्वी यादव ने कहा कि पूर्णिया में राजद नेता की हत्या के मामले में मुझपर और मेरे भाई पर राजनीतिक साजिश के तहत आरोप लगाए गए. उन्होंने कहा कि सत्तारूढ़ पार्टी के द्वारा मेरे ऊपर लगाए सभी आरोप झूठे हैं.

तेजस्वी ने ट्वीट करके कहा, '7 लोग मामले में गिरफ्तार हुए हैं. उनके बयानों से यह साफ हो  रहा है कि राजनीतिक साजिश के तहत इस मामले में हमारा नाम घसीटा गया. सत्तारूढ़ दल ने मेरे भाई और मुझ पर झूठे आरोप लगाए हैं.'

 

 राजद नेता ने कहा, 'मैं सीएम से पूछना चाहूंगा कि क्या वह इतने डरे और सहमे हुए हैं कि हमलोगों पर झूठे और बेबुनियाद आरोप लगाएंगे? जेडीयू कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उनके प्रवक्ताओं ने बेबुनियाद आरोप लगाए, क्या नीतीश कुमार इसके लिए माफी मांगेंगे?'

बता दें, 4 अक्टूबर को राजद एससी-एसटी प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश सचिव शक्ति मल्लिक की अपराधियों ने मुर्गी फॉर्म रोड स्थित घर में घुसकर हत्या कर दी थी. तीन नकाबपोश ने घर में घुसकर 40 साल के मलिक के सिर और छाती में तीन गोलियां मारीं. घरवाले उन्हें घायल अवस्था में उसे सदर अस्पताल लाए, मगर कुछ ही देर में मौत हो गई.

बिहार चुनाव: RSLP ने खोले अपने चुनावी पत्ते, 42 प्रत्याशियों की सूची जारी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें