कृषि कानून पर बोले सीताराम येचुरी, 'बरकरार रहा कानून तो हो जाएगा अनाज का संकट'

Smart News Team, Last updated: 08/02/2021 05:51 PM IST
  • तीनों कृषि कानूनों को लेकर सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने केंद्र पर हमला बोला है. उन्होंने कहा केन्द्र सरकार के तीनों नए कृषि कानून देश की खाद्य सुरक्षा पर आघात है.
सीताराम येचुरी

पटना: तीनों कृषि कानूनों को लेकर सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने केंद्र पर हमला बोला है. उन्होंने कहा केन्द्र सरकार के तीनों नए कृषि कानून देश की खाद्य सुरक्षा पर आघात है. येचुरी बोले ये कानून अगर बरकरार रहे तो अनाज का संकट पैदा हो जाएगा. उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों का तो उद्देश्य ही अलग है. सीताराम येचुरी ने कहा कि किसानों की मांग नाजायज़ नहीं है. उनका बस इतना कहना है कि कृषि सुधार का कानून बनाना है तो पहले उनसे बात हो. इसके साथ ही उसके पहले वर्तमान कानून को वापस लिया जाए.

पटना के अवर अभियंता भवन में गणेश शंकर विद्यार्थी की श्रद्धांजलि सभा में उन्होंने कहा कि गणेश शंकर विद्यार्थी ने पूरा जीवन किसानों और मजदूरों के हित के लिए लगा दिया. करोड़ों युवकों की नौकरी चली गई और कोरोना काल में भी बड़े घरानों की संपत्ति में इजाफा हुआ.

दारोगा-सार्जेंट रिज़ल्ट पर सोशल मीडिया में फैलाया जा रहा भ्रम, आयोग बरतेगा सख्ती

आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि देश के संविधान पर खतरा पैदा हो गया है. हिन्दू राष्ट्र बनाने की साजिश में संविधान बड़ा अवरोध है. लिहाजा संविधान को ही बदलने की साजिश हो रही है.

लाइसेंस बनवाना हुआ बेहद आसान, अब DL के लिए नहीं देना होगा ड्राइविंग टेस्ट

उन्होंने आशंका जताई कि अगर अलग-अलग मत होने के बावजूद सभी दल एकजुट नहीं हुए तो पूरा देश टूट जाएगा. देश में पहली बार देखा जा रहा है कि कोई जज किसी पीएम की प्रशंसा करता है. उन्होंने कहा कि जिन संस्थाओं को स्वतंत्र होना चाहिए उनका राजनीतिक इस्तेमाल किया जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें