बिहार सृजन घोटला: मुख्य आरोपी अमित-प्रिया की संपत्ति गुरूवार से होगी जब्त

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 12:21 PM IST
  • सीबीआई कोर्ट के आदेश के बाद डीएम ने एसडीओ को दिया था निर्देश. सदर एसडीओ ने संपत्ति जब्त करने को तीनों सीओ को किया अधिकृत.विधि व्यवस्था संधारण के लिए सबौर के अंचल अधिकारी जगदीशपुर के अंचल अधिकारी और नाथनगर के अंचल अधिकारी को दंडाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है. 
बिहार सृजन घोटला: मुख्य आरोपी अमित-प्रिया की संपत्ति गुरूवार से होगी जब्त

पटना: सृजन संस्थापक मनोरमा देवी के बेटे और बहू सृजन घोटाले के मुख्य आरोपी अमित कुमार और रजनी प्रिया की संपत्ति 10 दिसंबर से जब्त की जाएगी. इसके लिए सदर एसडीओ ने तीन सीओ को अधिकृत किया है. इस बारे में सीबीआई न्यायालय के निर्देशानुसार जिला अधिकारी प्रणव कुमार ने एसडीओ को आदेश दिया था डीएम के आदेश के आलोक में एसडीओ ने अमित एवं प्रिया की संपत्ति जब्त करने का आदेश निर्गत किया है. 10 दिसंबर के सभी प्रश्न गत संपत्तियों के अधिग्रहण के बाद इन्वेंटरी तैयार करने के साथ-साथ विधि व्यवस्था संधारण के लिए सबौर के अंचल अधिकारी विक्रम भास्कर झा जगदीशपुर के अंचल अधिकारी संजीव कुमार और नाथनगर के अंचल अधिकारी राजेश कुमार को दंडाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त किया गया है प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि संबंधित अंचल क्षेत्रांतर्गत संबंधित थाना अध्यक्ष से समन्वय स्थापित कर संपत्ति का अधिग्रहण एवं इन्वेंटरी तैयार कराते हुए विधि व्यवस्था संधारण करना सुनिश्चित करें.

इन्वेंटरी तैयार करने के लिए अपने स्तर से आवश्यकता अनुसार कर्मी की प्रतिनियुक्ति करते हुए. संपत्ति का अधिग्रहण और इसके बाद दैनिक प्रतिवेदन भी देंगे आदेश में बताया गया है, कि प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी के साथ पुलिस पदाधिकारी सहित सशस्त्र बल की प्रतिनियुक्ति 10 दिसंबर से वरीय पुलिस अधीक्षक के स्तर से की जाएगी.

पटना: बिहार में 4 पैसेंजर ट्रेन का परिचालन फिर से शुरु, जानिए...

बता दें कि अमित सृजन संस्थापक मनोरमा देवी की बेटे हैं और रजनी प्रिया बहू है भागलपुर के अलावा और सहित कई जगहों पर अमित और प्रिया की कई संपत्ति है। जिस की सूची बनाई गई है दोनों सृजन घोटाला में मुख्य आरोपी है दोनों अब तक इस मामले में फरार चल रहे हैं

पटना एयरपोर्ट: कोहरे के कारण विमानों को लैंडिंग में हो रही दिक्कत, 29 फ्लाइट लेट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें