Viral Video: सिविल ड्रेस में बाइक चोरी की शिकायत लेकर थाने पहुंचे SSP-दारोगा ने हड़का दिया

Atul Gupta, Last updated: Mon, 17th Jan 2022, 11:22 PM IST
  • भागलपुर एएसपी बाबू राम सिविल ड्रेस पहनकर बाइक चोरी की शिकायत लेकर थाने पहुंचे. इस दौरान उनके साथ थाने में बदतमीजी की. उन्हें कहा गया ज्यादा हीरो ना बनो और झूठ मत बोलो
सिविल ड्रेस में भागलपुर एएसपी (फोटो- सोशल मीडिया)

पटना: कुछ सालों पहले अजय देवगन की फिल्म आई थी गंगाजल. फिल्म के एक सीन में एसएसपी बने अजय देवगन एक चेकिंग प्वाइंट पर मौजूद दारोगा से पूछते हैं कि चेकिंग क्यों हो रही है. सिविल ड्रेस में मामूली आदमी समझकर दारोगा मंगनी राम एसएसपी अमित कुमार को हड़का देता है और कहता है साले सारा कायदा कानून यहीं घुसाड़ देंगे. इंस्पेक्टर मंगनी राम नाम है हमारा. बाद में पता चलता कि एसएसपी साहब हैं तो हाथ पैर जोड़ने लगता है. ऐसा ही कुछ हुआ भागलपुर में जहां एसएसपी बाबू राम सिविल ड्रेस में थाने पहुंचे ये जानने के लिए कि थानों में आम आदमी के साथ कैसे सुलूक किया जाता है. एसएसपी रात को निकले और पहुंच गए जोगसर थाना. थाने में जाकर कहा सर, अभी थोड़ी देर पहले थाने के गेट पर बाइक लगाई थी, चोरी हो गई. मेरी लिखित शिकायत पर कार्रवाई कीजिए ताकि मेरी बाइक मिल जाए. अब थानेदार को क्या पता कि जिसे मुखातिब हैं वो कोई आम आदमी तो है नहीं बल्कि एसएसपी है तो आम आदमी समझ दारोगा साहब ने एसएसपी साहब को हड़का दिया.

थानेदार ने आम आदमी समझ एसएसपी बाबू राम को हड़का दिया. दारोगा साहब मानने को तैयार नहीं कि बाइक वहां से चोरी हुई है. फिर बोलने लगे आप सही बोल रहे हैं ये आपके माथे पर लिखा है क्या? थानेदार ने कहा- ज्यादा हीरो मत बनो. झूठ काहे बोल रहे हो. कहीं और बाइक छोड़कर बाहर आए हो और कह रहे हो कि थाने के बाहर से बाइक चोरी हो गई. इस बीच थानाध्यक्ष अजय अजनवी को जानकारी मिली कि खुद एसएसपी साहब थाने में मौजूद हैं तो आनन फानन में थाने पहुंचे. थाने में मौजूद स्टाफ को खरी खोटी सुनाते हुए बताया कि जो आदमी रिपोर्ट लिखवाने आया था वो एसएसपी साहब थे.

सोमवार को एसएसपी बाबू राम ने पूरे थाने को अपने ऑफिस तलब कर लिया और जमकर हड़काते हुए कहा कि थाने में इस तरह का व्यवहार उचित नहीं है. उन्होंने सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि थाने में आम लोगों के साथ गलत व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. एसएसपी ने बताया कि बीती रात वो कई थानों में औचक निरीक्षण के लिए गए थे. जिन थानों में सही व्यवहार किया उन्हें ईनाम दिया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें