बिहार में आशा कार्यकर्ता और PDS दुकानदार भी लड़ सकेंगे पंचायत चुनाव, EC का फैसला

ABHINAV AZAD, Last updated: Tue, 7th Sep 2021, 6:20 PM IST
  • आशा कार्यकर्ता और पीडीएस दुकानदार भी मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति और वार्ड कमिश्नर सहित तमाम पदों पर अपनी किस्मत आजमा सकते हैं. लेकिन बशर्ते वे चुनाव लड़ने की योग्यता रखते हों.
 आशा कार्यकर्ता और PDS दुकानदार भी बिहार पंचायत चुनाव में अपनी किस्मत आजमा सकते हैं. (प्रतिकात्मक फोटो)

पटना. बिहार पंचायत चुनाव से जुड़ी बड़ी खबर है. दरअसल, इस बार पंचायत चुनाव में आशा वर्कर्स और पीडीएस दुकानदार भी चुनाव लड़ सकते हैं. राज्य निर्वाचन आयोग ने साफ तौर पर कहा है कि आशा कार्यकर्ता और पीडीएस भी मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति और वार्ड कमिश्नर सहित तमाम पदों पर अपनी किस्मत आजमा सकते हैं. निर्वाचन आयोग के मुताबिक, आशा कार्यकर्ता और पीडीएस दुकानदार भी चुनाव लड़ सकते हैं, लेकिन बशर्ते वे चुनाव लड़ने की योग्यता रखते हों. जबकि आंगनबाड़ी सेविका और सहायिका न तो पंचायत चुनाव लड़ सकते हैं और न ही किसी प्रत्याशी का प्रस्तावक भी बन सकते हैं.

राज्य निर्वाचन आयोग ने साफ कर दिया कि नॉमिनेशन के वक्त निर्वाची पदाधिकारी के कक्ष में प्रत्याशी और उसके एक प्रस्तावक ही जा सकेंगे. साथ ही नामांकन भरने और नाम वापसी का वक्त भी निर्धारित कर दिया गया है. इसके लिए सुबह 11 बजे से शाम चार बजे तक का समय तय किया गया है. राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक, अगर किसी कैंडिडेट के नॉमिनेशन फॉर्म में किसी तरह की गड़बड़ी पाई जाती है तो इस स्थित में निर्वाची पदाधिकारी कैंडिडेट को गलती दूर करने का मौका देंगे.

RJD के नए पोस्टर से एक बार फिर तेजप्रताप गायब, लालू-तेजस्वी समेत दिखे ये नेता

बताते चलें कि नामांकन पत्र केवल प्रत्याशी ही जमा करा सकते हैं. कोई प्रस्तावक नामांकन पत्र निर्वाची पदाधिकारी के दफ्तर में जमा नहीं करा सकते हैं. जबकि इसके अलावा अधिकतम दो सेट में ही नामांकन पत्र दाखिल किया जाएगा. नामांकन पत्र डाक से नहीं भेजा जा सकता है. अगर किसी प्रत्याशी ने डाक से नामांकन पत्र भेजा तो उसे स्वीकार नहीं किया जाएगा. जबकि इसके अलावा किसी भी स्थिति में नामांकन शुल्क वापस नहीं होगा. नामाकंन पत्रों की जांच के वक्त निर्वाची पदाधिकरी के कक्ष में प्रत्याशी और उसका एक प्रस्तावक ही उपस्थित रह सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें