अफगानिस्तान: आत्मघाती हमले में 7 की मौत, तालिबान ने ली जिम्मेदारी

Malay, Last updated: 18/05/2020 05:48 PM IST
पूर्वी अफगानिस्तान में सोमवार सुबह एक आत्मघाती हमलावर ने खुफिया विभाग के दफ्तर के पास चोरी किए हुए सैन्य वाहन 'हमवी से विस्फोट कर दिया। प्रांतीय अधिकारी ने सोमवार को बताया कि इस धमाके में विभाग...
Afghanistan, suicide attack, Taliban

पूर्वी अफगानिस्तान में सोमवार सुबह एक आत्मघाती हमलावर ने खुफिया विभाग के दफ्तर के पास चोरी किए हुए सैन्य वाहन 'हमवी से विस्फोट कर दिया। प्रांतीय अधिकारी ने सोमवार को बताया कि इस धमाके में विभाग के कम से कम सात कर्मियों की मौत हो गई। तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

पूर्वी गजनी प्रांत के प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता आरिफ नूरी ने कहा कि गजनी शहर के पास हुए इस हमले में खुफिया विभाग के कम से कम 40 कर्मी घायल हो गए। साथ ही बताया कि घायल कर्मियों में से आठ की हालत गंभीर थी और उन्हें आगे के इलाज के लिए राजधानी काबुल ले जाया गया है। नूरी ने कहा कि हमलवार ने चोरी किए हुए सैन्य वाहन हमवी (हाई मोबिलिटी मल्टीपर्पज व्हील्ड व्हीकल) का इस्तेमाल किया और खुफिया विभाग के कार्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार को निशाना बनाया और वहां से गुजरते हुए विस्फोटकों से भरे वाहन को उड़ा दिया।

तालिबान के प्रवक्ता जबीबुल्ला मुजाहिद ने कहा कि गजनी प्रांत में हमले के लिए चरमपंथी जिम्मेदार हैं। इस क्षेत्र के अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों पर तालिबान का कब्जा है। इस हमले से एक दिन पहले देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी और उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने सत्ता साझा करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इससे दो माह पूर्व दोनों ने सितंबर में हुए राष्ट्रपति चुनावों में खुद को विजेता बताया था। इस राजनीतिक समझौते के तहत गनी ही युद्धग्रस्त देश के राष्ट्रपति बने रहेंगे और अब्दुल्ला देश की राष्ट्रीय सुलह समझौता उच्च परिषद की कमान संभालेंगे।

इससे पहले पिछले मंगलवार को चरमपंथियों ने काबुल में गर्भवती महिलाओं के एक अस्पताल में विस्फोट कर दिया था जिसमें कई मांओं,नर्सों और दो नवजात शिशुओं समेत 24 की मौत हो गई थी। हमले में अस्पताल में मौजूद 16 अन्य लोग घायल भी हो गए थे। इस हमले की किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली थी। मंगलवार को ही एक आत्मघाती हमलावर ने पूर्वी नांगरहार प्रांत में सरकार समर्थक मिलिशिया कमांडर के जनाजे में विस्फोट कर 32 लोगों की जान ले ली थी और 133 अन्य को घायल कर दिया था। इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट संगठन ने ली थी।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें