कोरोना से लड़ाई: हर पांचवां कोरोना संक्रमित शख्स महाराष्ट्र से

Malay, Last updated: Fri, 10th Apr 2020, 9:59 AM IST
कोरोना का कहर भारत में भी दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में संक्रमण के पिछले 24 घंटों में 591 नये मामले सामने आए हैं और इस दौरान 20 लोगों की मौत हुई है। सिर्फ...
कोरोना का कहर भारत में भी दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है।

कोरोना का कहर भारत में भी दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में संक्रमण के पिछले 24 घंटों में 591 नये मामले सामने आए हैं और इस दौरान 20 लोगों की मौत हुई है। सिर्फ महाराष्ट्र में ही गुरुवार को 162 नए मामले सामने आये हैं, जिससे राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 1,297 पहुंच गई। यहां एक दिन में कोविड-19 के रोगियों की संख्या में यह अब तक की सबसे अधिक वृद्धि है। इसी के साथ अब देश में हर पांचवां कोरोना संक्रमित शख्स महाराष्ट्र से है।  इसके साथ ही देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 6475 हो गये जबकि मौतों का आंकड़ा 196 पर पहुंच गया है। हालांकि अब तक 600 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। 

गुजरात में पिछले 12 घंटे में 55 नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कुल संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 241 हो गई। राजस्थान में तबलीगी जमात के नौ सदस्य व उनके संपर्क में आए तीन लोग सहित कुल 30 नए पॉ़जिटिव मामले सामने आए हैं। इन आंकड़ों के साथ राज्य में पॉजिटिव मामले 413 हो गए हैं।  

इंदौर में 62 वर्षीय डॉक्टर की मौत
मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना की जद में आये 62 वर्षीय डॉक्टर की मौत हो गयी। इसके साथ ही, शहर में संक्रमण से दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 22 पर पहुंच गयी है। 

पीपीई संग 49 हजार वेंटिलेटर खरीदे जा रहे: मंत्रालय  
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कोविड इमरजेंसी पैकेज को मंजूरी दिए जाने की जानकारी देते हुए बताया कि केंद्र सरकार ने 15 हजार करोड़ रुपये की निर्धारित राशि वाले इस पैकेज से कोरोना संकट से निपटने में राज्य सरकारों की जरूरी संसाधनों की तात्कालिक जरूरत की पूर्ति करने के मकसद से यह पहल की है। अग्रवाल ने पीपीई की कमी पर कहा कि भारत में 20 कंपनियां इनका निर्माण कर रही हैं। इसके लिए 1.7 करोड़ रुपये की कीमत के पीपीई के साथ ही 49 हजार वेंटिलेटर भी खरीदे जा रहे हैं  स्वास्थ्यकर्मियों और संक्रमण के संदिग्ध मरीजों को दी जाने वाली दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन का भी देश में पर्याप्त भंडार उपलब्ध है। 

गलती से 4 छोड़ दिए संक्रमित
तमिलनाडु में विल्लुपुरम जिले के एक अस्पताल से कोविड -19 के 4 मरीजों को गलती से छुट्टी दिए जाने के बाद हड़कंप मच गया है। विल्लुपुरम के अस्पताल ने मंगलवार को एक क्लरिकल गलती के कारण चार कोरोनवायरस पॉजिटिव रोगियों को छुट्टी दे दी थी। इस गलती का अहसास होने पर अस्पताल के अधिकारी पुलिस के पास पहुंचे और फिर तीन व्यक्तियों को फौरन अस्पताल बुलाया गया, लेकिन एक व्यक्ति अभी तक पुलिस को नहीं मिला। उस व्यक्ति का पता लगाया जा रहा है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें