मान नहीं रहे तब्लीगी, अभद्रता तो कहीं कर रहे हैं बेतुकी मांगें

Malay, Last updated: 05/04/2020 11:59 AM IST
उत्तर प्रदेश के शामली में शनिवार को तब्लीगी जमात के तीन सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से दो बांग्लादेश और एक असम से है। ये सभी मार्च में दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए...
Corona Lockdown Nizamuddin Tablighi Jamaat Markaz

उत्तर प्रदेश के शामली में शनिवार को तब्लीगी जमात के तीन सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं, जिनमें से दो बांग्लादेश और एक असम से है। ये सभी मार्च में दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए कार्यक्रम में शामिल हुए थे। बांदा का एक व्यक्ति भी कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है, जिसने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की थी। राजस्थान  में भी तबलीगी जमात के सदस्यों और उनके संपर्क में आए लोगों के संक्रमित होने के कम से कम 41 मामले सामने आ चुके हैं। एक तरफ जहां तबलीगी जमात से जुड़े संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं तो वहीं इस जमात के इन लोगों द्वारा प्रशासन के लोगों के साथ अभद्रता के मामले भी एक चुनौती बन गए हैं। 

अंडे, बिरयानी की फरमाइश 
जमात के कार्यक्रम में भाग लेने के बाद संक्रमित होने के संदेह में बिजनौर के जिला अस्पताल के पृथक वार्ड में रखे गए इंडोनेशिया के आठ नागरिकों सहित 13 लोगों ने अस्पताल में हंगामा किया और अंडे एवं बिरयानी की फरमाइश की। इन लोगों की फरमाइश जब पूरी नहीं की गई तो उन्होंने हंगामा किया। इसके अलावा गाजियाबाद के बाद अब कानपुर के एक अस्पताल में भी 22 तबलीगी जमात के सदस्यों पर स्वास्थ्यकर्मियों से अभद्रता करने का आरोप लगा है। कानपुर स्थित लाला लाजपत राय अस्पताल की प्रधानाचार्य आरती लालचंदानी ने शनिवार को बताया कि चिकित्सालय के कुछ कर्मियों ने इल्जाम लगाया है कि पृथक वार्ड में रखे गए कुछ मरीजों ने उनके साथ अभद्रता की है। उन्होंने कहा कि हाल में दिल्ली से  कार्यक्रम में शिरकत करके लौटे 22 लोगों को लाला लाजपत राय अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया। वार्ड के अधिकारियों ने आरोप लगाया है कि उन लोगों ने अस्पताल कर्मियों से बदतमीजी की है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें