बाहर से आने वालों का प्रवेश बंद!

Malay, Last updated: Sat, 28th Mar 2020, 3:52 PM IST
कोरोना वायरस महामारी से जारी मानवता की जंग में बढ़ते संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सतर्क है। शुक्रवार को देश के विभिन्न हिस्सों से बख्तियारपुर पहुंचे 47 लोगों की जांच की गई। प्रारंभिक जांच...
दिल्ली, बेंगलुरू, नागालैंड, हरियाणा, गुजरात, सूरत से लौट रहे लोगों से गांवों में व्याप्त है भय

कोरोना वायरस महामारी से जारी मानवता की जंग में बढ़ते संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सतर्क है। शुक्रवार को देश के विभिन्न हिस्सों से बख्तियारपुर पहुंचे 47 लोगों की जांच की गई। प्रारंभिक जांच के बाद सभी को होम क्वारेंटाइन में रहने की सलाह दी गई। प्रखंड के हेल्थ मैनेजर रेशमा कुमारी ने बताया कि हरियाणा, दिल्ली, बेंगलुरू, नागालैंड, गुजरात, सूरत समेत अन्य जगहों से लौटे 47 लोगों की स्वास्थ्य की जांच शुक्रवार को की गई। बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों में कोरोना वायरस के संक्रमण पाए जाने के संदेह पर ग्रामीण उन लोगों को गांव में प्रवेश नहीं करने दे रहे थे। वहीं कई परिवारों ने भी दूरी बना ली थी। इस तरह प्रखंड के अलग-अलग मोहल्लों से शिकायत मिलने पर पुलिस ने सभी को जांच के लिए बख्तियारपुर सीएचसी में भर्ती कराया, जहां चिकित्सकों ने जांच के बाद सभी को चौदह दिनों के लिये होम क्वारेंटाइन में रहने का निर्देश दिया है।

पटना से पैदल गांव पहुंचे मजदूर जांच से बच रहे थे
बाढ़ के बेलछी प्रखंड के अंदौली गांव में शुक्रवार को मेडिकल टीम ने दिल्ली से आए हुए 22 लोगों की स्क्र्रींनग की। सभी लोग अपने घरों में छिपे हुए थे और जांच कराने से बच रहे थे। तब अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में चिकित्सक से जांच कराई गई। मजदूर पटना से पैदल ही गांव पहुंचे थे। दूसरी तरफ परिजनों को भी इनके रहन-सहन को लेकर सुझाव दिया गया है। कहा गया है कि बीमार होने के लक्षण मिलने पर मेडिकल टीम को सूचना दें। उन्होंने बताया कि बेलछी प्रखंड के अंतर्गत अब तक कुल 124 लोगों की मेडिकल स्क्र्रींनग की जा चुकी है। 

27 लोगों की मेडिकल स्क्र्रींनग
बाढ़ और पंडारक प्रखंड में शुक्रवार को 27 लोगों की मेडिकल स्क्र्रींनग की गई । प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मदन ने बताया कि पंडारक प्रखंड के दरबे भदौर गांव में एक व्यक्ति और बाढ़ के सरकट्टी गांव में 26 लोगों को जांच के दायरे में लाया गया। सभी स्वस्थ हैं। इसके बावजूद उन्हें 14 दिन अलग रहने की सलाह दी गई है। सरकट्टी के सभी लोग पैदल ही कोलकाता से गांव पहुंचे थे।  

फ्लू कॉर्नर में शुक्रवार को सात लोगों की जांच
बाढ़ अनुमंडल अस्पताल के फ्लू कॉर्नर में शुक्रवार को सात लोगों की जांच की गई। बहरहाल, मेडिकल टीम द्वारा लगातार बाहर से आए लोगों की निगरानी की जा रही है।

बिक्रम में घर लौटे 70 लोगों की जांच
बिक्रम नगर पंचायत स्थित खोरैठा गांव की एक 18 वर्षीय युवती को खांसी, सर्दी, बदन दर्द और बुखार की शिकायत मिलने पर स्थानीय पीएचसी में जांच की गई। जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे कोरोना का संदिग्ध मानकर पटना एम्स रेफर कर दिया। वह 21 मार्च को बनारस से घर लौटी थी। वहीं शुक्रवार को प्रखंड के गोरखरी, अराप, सुंदरपुर, कनपा आदि पंचायतों में दूसरे प्रदेशों से घर लौटे 70 लोगों की जांच की गई। जांच में सभी स्वास्थ्य पाए गए।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें