कोरोना वायरस: बाहर से आने वाले लोगों की हो रही जांच, 14 दिनों के लिए होम कोरेंटाइन का निर्देश

Malay, Last updated: 29/03/2020 12:03 PM IST
कोरोना वायरस के खतरे को लेकर बाहर से आने वाले लोगों का स्वास्थ्य विभाग की ओर से व्यापक पैमाने पर स्क्र्रींनग की जा रही है। अब तक 198 लोगों को स्क्रीनिंग की गई है। हालांकि, किसी मे कोरोना वायरस होने...
coronavirus in china,coronavirus,coronavirus news,coronavirus in india,corona virus in Bihar

कोरोना वायरस के खतरे को लेकर बाहर से आने वाले लोगों का स्वास्थ्य विभाग की ओर से व्यापक पैमाने पर स्क्र्रींनग की जा रही है। अब तक 198 लोगों को स्क्रीनिंग की गई है। हालांकि, किसी मे कोरोना वायरस होने के प्रारंभिक लक्षण नहीं पाए गए है। फिर भी एहतियातन सभी को 14 दिनों के लिये होम क्वारेंटाइन में रहने का निर्देश दिया गया है। 

अस्पताल के हेल्थ मैनेजर रेशमा कुमारी के मुताबिक  प्रखंड क्षेत्र के अलग अलग गांवों में जाकर स्वास्थ्यकर्मी बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी जुटा रहे हैं। शनिवार को भी वैसे 61 लोगों को चिह्नित कर उनका स्क्रीनिंग किया गया। हेल्थ मैनेजर ने बताया कि अभी तक एक भी कोरोना संदिग्ध मरीज नहीं पाए गए है, जिन्हें कोरोना टेस्ट की जरूरत हो। फिर भी विभाग इस महामारी को लेकर बाहर से आने वाले लोगों पर पैनी नजर रखी जा रही है। 

खुसरूपुर में 42 संदिग्ध लोगों की जांच की गई 
खुसरूपुर  प्रखंड में अन्य राज्यों से बड़ी संख्या में लोग अपने गांव लौट रहे हैं। हालांकि लौटने वालों आंकड़ा नहीं है, लेकिन शनिवार को पीएचसी की टीम 42 संदिग्ध लोगों की जांच की। सभी को अपने परिवार वालों से दूरी बनाकर  रहने की अपील की गई है। प्रखंड के किसी भी आइसोलेशन सेंटर पर एक भी व्यक्ति नहीं। प्रशासन ने अलावलपुर पंचायत के विभिन्न गांवों में 37, सुकरवेगचक पंचायत में 03,मौसिमपुर पंचायत में 01,बैकठपुर पंचायत में 02 एवं खुसरूपुर नपं में 04 लोगों की जांच की है।

पांच संदिग्ध की जांच रिपोर्ट निगेटिव
बिक्रम पीएचसी से कोरोना कोरोना जांच के लिए पटना एम्स में रेफर किए गए दो संदिग्ध लोगों की जांच रिपोर्ट शनिवार को आ गई। दोनों की जांच रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है। यह जानकारी पीएचसी के प्रभारी डॉ. शशि शेखर ने दी। इस संबंध में ज्यादा जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि पीएचसी से अबतक पांच संदिग्ध लोगों की कोरोना वायरस की जांच के लिए भेजा गया था। पांचों की रिपोर्ट जांच के बाद निगेटिव पाई गई है। ये संदिग्ध खोरैठा, पतूत, बाघाकोल, आदि गांवों के निवासी हैं। इसके बाद भी इनलोगों पर नजर खी जा रही है। 

बाढ़ प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में घरों पर होम कोरेंटाइन पोस्टर लगाने का काम शुरू 
बाढ़। बाढ़ प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में बाहर से आए लोगों के घरों को चिह्नित करते हुए कर्मियों ने होम कोरोंटाइन पोस्टर चिपका कर परिजनों को जागरूक रहने की अपील की। ग्रामीणों को जागरूक रहने के लिए भी कहा गया है। दूसरी तरफ शनिवार को विभिन्न गांव में मेडिकल टीम ने बाहर से आए 70 लोगों की स्क्र्रींनग करने के बाद उसे रहन-सहन को लेकर सुझाव दिया। बाढ़ प्रखंड कार्यालय में बीडीओ अमरेंद्र कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में खोजी टीम की बैठक आयोजित की गई ,जिसमें बाहर से आए लोगों के घरों को चिह्नित कर जानकारी दर्ज किए गए पोस्टर चिपकाने और होम कोरेंटाइन कराने को लेकर निर्देश दिया गया है। पंचायतों में घरों को चिह्नित करने का काम शुरू कर दिया गया है। बेलछी प्रखंड के भी भीखो चक गांव में उड़ीसा और गुजरात से आए तीन लोगों की स्क्र्रींनग की गई।  दूसरी तरफ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 15 लोग स्क्र्रींनग कराने के लिए पहुंचे थे।

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ दिलीप ने बताया कि अब तक 143 लोगों की कोरोना वायरस को लेकर जांच की जा चुकी है। इनमें कोई भी लक्षण अब तक नहीं पाए गए हैं। बाढ़ प्रखंड में 11 और पंडारक प्रखंड में पांच लोगों की जांच शनिवार को की गई है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मदन ने बताया कि बाढ़ प्रखंड में अब तक 240 ग्रामीणों की मेडिकल जांच की जा चुकी है। उधर दूसरी तरफ बाढ़ अनुमंडल अस्पताल में विभिन्न प्रदेशों से आए 36 लोगों ने फ्लू कॉर्नर पर जांच कराई। इस कॉर्नर पर अब तक 109 लोगों की मेडिकल जांच की जा चुकी है।

अन्य खबरें