पटना

शहर के सैनिटाइजेशन में अपनी ही गाड़ियों को भूल गया निगम

Malay, Last updated: 24/03/2020 11:28 AM IST
पूरे देश में कोरोना को लेकर लोगों में भय का माहौल है। इधर, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पटना नगर निगम ने भी सभी तैयारियां पूरी कर लीं हैं। चूना और केमिकल के साथ फर्ॉंगग मशीन से दवा का छिड़काव किया जा...
file photo

पूरे देश में कोरोना को लेकर लोगों में भय का माहौल है। इधर, कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पटना नगर निगम ने भी सभी तैयारियां पूरी कर लीं हैं। चूना और
केमिकल के साथ फर्ॉंगग मशीन से दवा का छिड़काव किया जा रहा है। नगर निगम के सफाईकर्मी पूरी मुस्तैदी से शहर को सैनिटाइज करने में लगे हुए है।
लेकिन इन सब के बीच लोगों को दहशत से निजात  दिलाने के प्रयास में निगम स्वयं के वाहनों की साफ-सफाई भूल गया। निगम के अंचल कार्यालयों में पिछले
15 दिनों से वाहनों की सफाई नहीं हुई है। जबकि कुछ अंचलों में हाल के कुछ दिन से साफ-सफाई और धुलाई का कार्य ठप है।

सफाई व्यवस्था में कई समस्याएं
कुछ अंचलों में निगम के वाहन यार्ड में लगाए गए जलापूर्ति मोटर पंप एक पखवारे से खराब पड़े हैं। वहीं कुछ अंचलों में वाहनों की सफाई और धुलाई का काम
करने वाले कर्मियों की ड्यूटी इन दिनों शहर के सार्वजनिक, बस एवं रेलवे स्टेशन आदि स्थानों पर सैनिटाइजेशन के कार्य में लगा दी गई है। इससे कचरा वाहनों की
सफाई व्यवस्था काफी प्रभावित हुई है।

डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण करने वाले कर्मचारियों ने बताया कि 15 दिनों से वाहनों की धुलाई नहीं होने से इन वाहनों को लेकर यात्रा करने में उन्हें परेशानियों का
सामना करना पड़ रहा है। वाहनों के कचरा डब्बा से उठने वाली बदबू का जनता भी अब विरोध करने लगी है। कर्मचारियों ने वाहन यार्ड में वाहनों की धुलाई और
साफ-सफाई का काम बंद होने के बाबत कई बार सफाई अधिकारियों को सूचित किया। लेकिन जिला प्रशासन और आयुक्त के शहर भर में सैनिटाइजेशन पर चलाए
जाने वाले निर्देश के अनुपालन में अंचल स्तर के अधिकारी भी इस समस्या की ओर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं।

अन्य खबरें