दावा: 48 घंटे में कोरोना को खत्म करेगी दवा, ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं ने लैब में किया सफल प्रयोग, इंसानों पर परीक्षण बाकी

Malay, Last updated: Sun, 5th Apr 2020, 12:06 PM IST
ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं ने कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ निकालने का दावा किया है। शोधकर्ताओं ने लैब टेस्ट में इसकी दवा बनाने की शुरुआती तरकीब खोजने की बात कही है।  उन्होंने एक प्रयोग के दौरान...
ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं ने लैब में किया सफल प्रयोग, इंसानों पर परीक्षण बाकी

ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं ने कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ निकालने का दावा किया है। शोधकर्ताओं ने लैब टेस्ट में इसकी दवा बनाने की शुरुआती तरकीब खोजने की बात कही है। 

उन्होंने एक प्रयोग के दौरान पाया है कि एक परजीवी रोधी दवा (एंटी पेरासिटिक्स ड्रग) 48 घंटे के भीतर कोशिकाओं में विकसित किए गए वायरस को मार सकती है। यह परजीवी रोधी दवा हर जगह पहले से ही उपलब्ध है। अध्ययन के अनुसार, एंटीवायरल रिसर्च नामक पत्रिका में प्रकाशित दवा इवरमेक्टिन ने वायरस, सार्स-सीओवी-2 को 48 घंटे के भीतर सेल कल्चर में बढ़ने से रोक दिया। शोधकर्ताओं ने बताया कि यह एक प्रारंभिक शोध है और मानवों पर इसका परीक्षण अभी बाकी है। 

वैज्ञानिकों ने कहा कि इवरमेक्टिन एक अनुमोदित परजीवी दवा है जिसे एचआईवी, डेंगू, इन्फ्लुएंजा और जीका वायरस सहित वायरस की एक विस्तृत शृंखला के खिलाफ भी प्रभावी देखा गया है। हालांकि, वागस्टफ ने आगाह किया कि अध्ययन में किए गए परीक्षण इन विट्रो (लैब) में थे और यह परीक्षण अभी इंसानों में किए जाने की आवश्यकता है। 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें