यहां तो नाले को भरकर ही कर लिया अवैध कब्जा

Malay, Last updated: 05/12/2019 11:22 AM IST
पटेल गोलंबर से फुलवारी को मिलाने वाले सरपेंटाइन नाले पर अतिक्रमणकारियों ने दोहरा कब्जा कर लिया है। एक किनारे पर तो नाले को भरकर ही उसपर झोंपड़ी बना ली गई है। यह पूरा खेल पर्दे के पीछे से हुआ और...
सरपेंटाइन नाले पर एयरपोर्ट के पीछे अतिक्रमण हटाने के दौरान झोपड़ियों पर चली जेसीबी

पटेल गोलंबर से फुलवारी को मिलाने वाले सरपेंटाइन नाले पर अतिक्रमणकारियों ने दोहरा कब्जा कर लिया है। एक किनारे पर तो नाले को भरकर ही उसपर झोंपड़ी बना ली गई है। यह पूरा खेल पर्दे के पीछे से हुआ और जिम्मेदारों को भनक तक नहीं लगी। 

जब जिला प्रशासन की ओर से गठित अतिक्रमण दस्ता बुधवार को राजधानी वाटिका इलाके में अतिक्रमण हटाने पहुंचा तो झुग्गी-झोपड़ियों के पीछे के कब्जे को देखकर हैरान रह गया। अतिक्रमण दल में शामिल अफसरों का दावा है कि अगर इन झोपड़ियों को हटा दिया जाय और पीछे के हिस्से की सफाई हो जाय तो नाला अपने पुराने स्वरूप में आ जाएगा और शहर में जलजमाव की समस्या भी दूर हो जाएगी। हालांकि नाले के दूसरे हिस्से के अतिक्रमणकारियों को हटाकर पिछले हिस्से की सफाई अतिक्रमण दल में शामिल मुट्ठी भर पुलिस के लिए संभव नहीं हुआ, जिसके बाद टीम को वापस लौट जाना पड़ा। 

अधिकारियों ने बताया कि जिलाधिकारी का निर्देश हुआ तो गुरुवार को इस इलाके में फिर से जेसीबी चलेगी और बाकी के अतिक्रमण को हटा दिया जाएगा। सरपेंटाइन नाले के इलाके की जमीन सरकार ने अधिग्रहित कर रखी है, लेकिन कुछ लोगों ने धीरे-धीरे इस इलाके में मोहल्ला ही बसा लिया। नक्शा उपलब्ध न होने की वजह से इसकी चौड़ाई का सही अंदाजा नहीं हो पा रहा है, लेकिन अंदाजा लगाया जा रहा है कि कुछ साल पहले तक यह नाला, नाला न होकर एक तालाब की तरह हुआ करता था। 

एतवारपुर में खराब हुआ पोकलेन  टला हादसा
बादशाही पईन पर अतिक्रमण हटाने गई टीम ने न्यू एतवारपुर के पास अतिक्रमण हटाया। नाले के किनारे बाउंड्री को तोड़ा। नाले की जमीन पर बना लिए गए दो मंजिला पक्का मकान को तोड़ने के प्रयास में पोकलेन का चालक बाल-बाल बचा। करीब 20 फिट ऊंचाई वाली इस इमारत को तोड़ने के क्रम में उसका छज्जा पोकलेन के आगे के हिस्से पर गिर गया, जिससे पोकलेन में तकनीकी खराबी आ गई। छज्जा चालक से कुछ फिट की दूरी पर गिरा था। जो बाल-बाल इमारत के मलबा की जद में आने से बचा था। सिटी अंचल में संपतचक इलाके में भी बादशाही पईन से अतिक्रमण हटाया गया। 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें