कोरोना के खौफ में है पटना की पुलिस

Malay, Last updated: Sun, 8th Mar 2020, 11:01 AM IST
अपराधियों के छक्के छुड़ाने वाली पटना पुलिस कोरोना के खौफ में है। बिना मास्क के दिन-रात ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों की पीड़ा को कोई सुनने वाला नहीं है। ट्रैफिक बूथ से लेकर थानों में ड्यूटी दे रहे...
बिना मास्क के दिन-रात लोगों की सुरक्षा में लगे रहते हैं जवान

अपराधियों के छक्के छुड़ाने वाली पटना पुलिस कोरोना के खौफ में है। बिना मास्क के दिन-रात ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों की पीड़ा को कोई सुनने वाला नहीं है। ट्रैफिक बूथ से लेकर थानों में ड्यूटी दे रहे जवान काफी डरे हुए हैं। वयरास के संक्रमण की दहशत ऐसी है कि वह बाहर खानपान से भी डर रहे हैं। हाथ की साफ-सफाई के लिए जागरुक किया जा रहा है, लेकिन सड़क पर ड्यूटी दे रहे जवानों के लिए यह संभव नहीं हो पा रहा है। होली के समय कड़ी ड्यूटी और बाहर से आने वालों से संक्रमण का खतरा और बढ़ गया है।

जेब ढीली करने पर भी नहीं मिल रहा मास्क 
शहर के बाजार में मास्क की उपलब्धता नहीं है। ऐसे में पुलिस कर्मी खुद से मास्क की खरीद नहीं कर पा रहे हैं। पुलिस कर्मियों का कहना है कि विभाग चाहे तो आसानी से पुलिस कर्मियों के लिए मास्क उपलब्ध करा सकता है। 

इधर, बाजार में मास्क की उपलब्धता नहीं होने के कारण इसे ब्लैक में बेचा जा रहा है। पुलिस के जवानों ने विभाग के साथ सामाजिक संगठनों से मास्क वितरित करने की मांग भी उठाई है। कई पुलिस कर्मियों का तो यह भी कहना है कि वह पैसा देकर भी मास्क नहीं खरीद पा रहे हैं। पुलिस का कहना है कि कई ऐसे संगठन हैं, जो पुलिस विभाग के लिए गंभीर रहते हैं, लेकिन कोरोना की दहशत फैलने के बाद वह मास्क को लेकर गंभीर नहीं। 

पुलिस को जागरुक रहना होगा। जागरुकता के लिए सरकार की मुहिम चल रही है। साफ-सफाई के साथ जागरुकता की हर गाईडलाइन का पालन करना चाहिए। 
- उपेंद्र कुमार शर्मा, एसएसपी   

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें