मारपीट के बाद गरमाई छात्र राजनीति

Malay, Last updated: 05/12/2019 11:09 AM IST
बुधवार को छात्रों के दो गुटों में मारपीट के बाद छात्र राजनीति गरम हो गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने में देर की तो छात्रों ने थाने पर हंगामा कर दिया। घंटों कोतवाली में धक्का-मुक्की होती रही। काफी दबाव...
थाने में मामला दर्ज कराने पहुंचे छात्र।

बुधवार को छात्रों के दो गुटों में मारपीट के बाद छात्र राजनीति गरम हो गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने में देर की तो छात्रों ने थाने पर हंगामा कर दिया। घंटों कोतवाली में धक्का-मुक्की होती रही। काफी दबाव के बाद पुलिस ने जब मुकदमा दर्ज किया, तब जाकर मामला शांत हुआ। इस घटना के बाद आक्रोश की आग में जल रहे छात्रों में फिर बवाल होने की आशंका बन रही है। हालांकि पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है और छात्रों के गुटों की खुफिया निगरानी की जा रही है। 

ऐसे बढ़ा बवाल और हो गई मारपीट 
छात्र राजद के अध्यक्ष पद के उम्मीदवार आयुष कुमार के साथ बुधवार दोपहर पटना वीमेंस कॉलेज के पास मारपीट की गई। घटना उस वक्त घटी, जब वह प्रचार कर रहे थे। छात्रों के बीच हुई मारपीट में उनके सिर में चोट लगी। हमलावरों ने उनकी गाड़ी का शीशा भी तोड़ दिया। इस घटना के बाद छात्रों में आक्रोश था। इधर, जब मामला कोतवाली में पहुंचा तो पुलिस ने मनमानी शुरू कर दी। केस दर्ज करने में देरी होने पर घायल छात्र नेता के समर्थकों ने कोतवाली थाने का घेराव कर हंगामा करना शुरू कर दिया। जख्मी छात्र नेता आयुष ने छात्र जदयू के प्रदेश अध्यक्ष श्याम पटेल,  अध्यक्ष पद के उम्मीदवार नीरज कुमार नंदन व उपाध्यक्ष पद के उम्मीदवार रितेश कुमार पर मारपीट व चेन छीनने के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई है। 

जमकर की गई है पिटाई 
छात्रों का कहना है कि छात्र राजद के अध्यक्ष पद के उम्मीदवार आयुष पटना वीमेंस कॉलेज के अंदर प्रचार कर रहे थे। छात्र जदयू और अन्य दलों के उम्मीदवारों का कहना है कि बिग बॉस के दीपक ठाकुर के साथ प्रचार कर रहे थे। इसी में कुछ छात्र भड़क गए। इसके बाद हंगामा करते हुए दोनों को भगा दिया। इसी क्रम में मारपीट की घटना हुई। घायल छात्र नेता ने उक्त आरोपितों पर बंदूक की बट से मारने का भी आरोप लगाया है। मारपीट के दौरान जमकर हंगामा हुआ, जिसके चलते वहां अफरातफरी मच गई।

पुलिस ने फिर घटना का केस दर्ज करने में की मनमानी 
घटना के बाद जख्मी छात्र नेता अपने समर्थकों के साथ दोपहर कोतवाली पहुंचे और आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई करने के लिए आवेदन दिया। आरोप है कि पुलिस केस दर्ज करने में आनाकानी करने लगी। देर शाम तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाने पर छात्र राजद के कार्यकर्ता भड़क गये। इसी बीच जदयू के छोटू सिंह भी थाने में पहुंच गए। राजद और छात्र जदयू के नेता के बीच बहस शुरू हो गई। इसके बाद कोतवाली थाने में जमकर हंगामा होने लगा। आरोप है कि हंगामे को शांत करने के लिए कोतवाली प्रभारी व पुलिस ने धक्का-मुक्की शुरू कर दी। इसके चलते काफी देर तक माहौल गर्म रहा। पुलिस ने अगर पहले मुकदमा दर्ज कर दिया होता तो बवाल नहीं होता। कोतवाली थानाध्यक्ष रामाशंकर सिंह ने बताया कि मारपीट का मामला दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

सस्ती लोकप्रियता के लिए चलते केस दर्ज कराया गया है। हमलोग अंहिसा के पुजारी हैं। मारपीट में विश्वास नहीं रखते हैं। वहां का सीसीटीवी फुटेज देख लिया जाए। सच्चाई समाने आ जाएगी। आयुष की उम्मीदवारी रद्द की जानी चाहिए। ये बिग बॉस के स्टार दीपक ठाकुर के साथ वीमेंस कॉलेज के अंदर चुनाव प्रचार कैसे कर रहे थे। 
- श्याम पटेल, अध्यक्ष, छात्र जदयू

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें