गाय के पेट में प्लास्टिक का ढेर

Malay, Last updated: 23/12/2019 11:29 PM IST
शहर की गायों के पेट में प्लास्टिक का ढेर है। वह हर दिन प्लास्टिक खा रही हैं। पेट में जब अधिक प्लास्टिक जमा हो जाता है तो वह दम तोड़ दे रही हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा हिन्दुस्तान स्मार्ट की पड़ताल में...
गायों के पेट में प्लास्टिक का ढेर है। वह हर दिन प्लास्टिक खा रही हैं।

शहर की गायों के पेट में प्लास्टिक का ढेर है। वह हर दिन प्लास्टिक खा रही हैं। पेट में जब अधिक प्लास्टिक जमा हो जाता है तो वह दम तोड़ दे रही हैं। यह चौंकाने वाला खुलासा हिन्दुस्तान स्मार्ट की पड़ताल में हुआ है। दो साल में हुए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट को जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। छह सौ गायों की मौत के बाद पशु विभाग द्वारा कराए गए पोस्टमार्टम में एक हजार किलो प्लास्टिक निकला है। पशु स्वास्थ्य को लेकर यह गंभीर मामला है, जिसे लेकर डॉक्टरों ने भी रिपोर्ट दी है। 

प्लास्टिक खाते देख शुरू हुई पड़ताल 
सड़क पर गाय को प्लास्टिक खाते अक्सर देखा जाता है। हिन्दुस्तान स्मार्ट रिपोर्टर जब गायों की सेहत पर प्लास्टिक के असर को जानने के लिए पशु चिकित्सा विभाग में तैनात डॉक्टरों से बात की तो पता चला कि इसी कारण से गायों की सेहत खराब हो रही है। इतना ही नहीं, प्लास्टिक खाने वाली गायों की मौत की बात भी सामने आई। गायों की मौत को लेकर पशुपालन विभाग द्वारा कराए गए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट की पड़ताल की गई तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ। 

एक गाय के पेट से 20 किलो तक निकल रहा प्लास्टिक  
पोस्टमार्टम रिपोर्ट खंगालने और उसपर अध्ययन करने पर पाया गया कि एक गाय के पेट से 20 किलो तक प्लास्टिक निकला है। जुलाई 2017 के बाद से अब तक लगभग छह सौ गायों का पोस्टमार्टम किया गया है। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों से बातचीत में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी गायों की मौत का कारण प्लास्टिक बताया गया है। 

प्लास्टिक की रस्सी से लेकर बोरा तक 
गायों का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर परमबोध और डॉक्टर सुबोध का कहना है कि गाय की मौत का कारण प्लास्टिक से हो रही है। सड़कों पर घूमने वाली गाय सब्जी व अन्य खाने वाले सामानों के साथ उस प्लास्टिक को भी निगल जाती हैं, जिसमें फेंका जाता है। प्लास्टिक गाय के पेट में जाकर जमा हो जाता है और फिर वह धीरे-धीरे आंतों को जाम कर देता है। एक समय ऐसा आता है, जब आंतों में फंसी प्लास्टिक गाय की मौत का कारण बन जाती है। पोस्टमार्टम के दौरान जानवर की आंत को देखना होता है और उससे मौत का कारण पता लगाया जाता है। हर गाय की मौत का कारण प्लास्टिक सामने आ रहा है और पेट से 15 से 20 किलो तक प्लास्टिक निकलता है। इसमें पालीथीन, प्लास्टिक के बोरे, प्लास्टिक की रस्सियों के साथ अन्य खतरनाक कूड़े होते हैं, जो पेट में गलते नहीं हैं। 

पोस्टमार्टम के दौरान आ जाता है चक्कर 
पोस्टमार्टम के दौरान आसपास मौजूद डॉक्टर व पशु स्वास्थ्य कर्मियों को चक्कर आ जाता है। पेट में प्लास्टिक इस तरह फंसा होता है कि उसे निकालने में डॉक्टरों को पसीना छूट जाता है। चार दिन पूर्व हुए एक गाय के पोस्टमार्टम में 20 किलो से अधिक प्लास्टिक निकला है। डॉक्टरों का कहना है कि पटना में पालीथीन बंद है, लेकिन गाय के पेट से निकल रहा है। 

पोस्टमार्टम में गाय के पेट से प्लास्टिक निकलना खतरनाक है। इस कारण से ही गायों की मौत हो रही है। गायों को प्लास्टिक न मिले तो उनकी जिंदगी पर खतरा नहीं होता।
- डॉ. परमबोध कुमार, चलंत मोबाइल चिकित्सा

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें