पटना

छापेमारी तो हो रही, पर लुटेरे हाथ नहीं आ रहे

Malay, Last updated: 15/01/2020 09:52 AM IST
दिनदहाड़े छह लाख रुपए लूटे जाने के मामले में पुलिस खाली हाथ है। हमेशा की तरह इस मामले में भी छापेमारी का दावा किया जा रहा है। पुलिस एक-एक कर सभी गैंगों के सदस्यों पर नजर रखी हुई है। छापेमारी भी ऐसे...
bihar police sipahi bahali exam today on 11880 posts

दिनदहाड़े छह लाख रुपए लूटे जाने के मामले में पुलिस खाली हाथ है। हमेशा की तरह इस मामले में भी छापेमारी का दावा किया जा रहा है। पुलिस एक-एक कर सभी गैंगों के सदस्यों पर नजर रखी हुई है। छापेमारी भी ऐसे ही गैंग के सदस्यों के यहां की जा रही है। परंतु सफलता नहीं मिली है। एसएसपी उपेंद्र शर्मा भी छापेमारी की ही बात कहते हैं।

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे लुटेरे :
घटनास्थल के आसपास से जुटाए गए सीसीटीवी फुटेज में लुटेरे दिख रहे हैं, पर उनकी पहचान नहीं हो पा रही है। हालांकि, इसके लिए एक विशेष टीम तक बना दी गई है। इसमें इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर रैंक के कुछ अफसरों को रखा गया है। ये ऐसे अधिकारी हैं, जो फुटेज से संबंधित कार्यों के विशेषज्ञ माने जाते हैं। बहरहाल, घटनास्थल से कुछ दूरी पर स्थित एक घर के सीसीटीवी फुटेज की जांच में टीम जुट गई है। दूसरी ओर, पुलिस सूत्रों ने बताया कि लुटेरों की तलाश में पटना शहर ही नहीं, आसपास के इलाकों तक में छापेमारी चल रही है। इसमें पटनासिटी, दानापुर, फतुहा, फुलवारीशरीफ, मनेर, पालीगंज,  जैसे इलाकों में पुलिस को सक्रिय कर दिया गया है। दरअसल, पुलिस ऐसे बदमाशों के घरों को टारगेट कर रही है, जो हाल ही में जेल से छूट कर बाहर निकले हैं। रवि मेंटल उर्फ रवि गुप्ता के गैंग पर भी पुलिस की नजर है। वह कोर्ट में एक सिपाही पर हमला कर भाग निकला था। कैश वैन से रुपए लूटने वाला गैंग भी पुलिस के रडार पर है।

बेचैन है पटना पुलिस
दिनदहाड़े लूट जैसी घटनाओं के लिए पटना बदमाशों के लिए सॉफ्ट टारगेट बन गया है। इससे पुलिस भी बेचैन है। लूटकांडों के खुलासे का लगातार पटना पुलिस पर दबाव बन रहा है। बैठकों में लगातार अफसर अधीनस्थों की क्लास ले रहे हैं। परंतु सफलता नहीं मिल रही है। सूत्रों की मानें तो इस दौरान सभी गैंग पर नजर रखने के साथ ही बड़े अपराधियों को पकड़ने के निर्देश दिए गए हैं।

यह थी घटना: सरेआम लूट ली थी नगदी, दो को मारी थी गोली
शहर के मशहूर सरिया कंपनी के कर्मचारियों को निशाना बनाते हुए 13 जनवरी की दोपहर करीब दो बजे आधा दर्जन से अधिक बदमाशों ने छह लाख रुपए लूट लिए थे। पत्रकारनगर थाना क्षेत्र के अंतर्गत डॉक्टर्स कॉलोनी में हुई इस घटना के बाद सनसनी फैल गई थी। बदमाशों ने नगदी लूटने के बाद दो कर्मचारियों को गोली भी मार दी थी। इसमें चालक और मुंशी घायल हो गए थे। दोनों को पीएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

वो बड़ी घटनाएं, जिसमें पुलिस है खाली हाथ
-27 नवंबर 2019 को दीघा थाना क्षेत्र में मछली व्यवसायी से 2.85 लाख रुपए की लूट।
-31 दिसंबर 2019 को कोतवाली थाना क्षेत्र के पटना जंक्शन गोलंबर के पास यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की शाखा से नौलाख 12 हजार रुपए की लूट।
-4 जनवरी 2020 को दीघा थाना क्षेत्र में पेट्रोल पंप कर्मियों को बंधक बनाकर 40 हजार रुपए की लूट।
-5 जनवरी 2020 को कदमकुआं थाना क्षेत्र से दिनदहाड़े अजंता पेपर मिल के कलेक्शन एजेंट से साढ़े चार लाख रुपए की लूट।
-6 जनवरी 2020 को पीरबहोर थाना क्षेत्र के एनी बेसेंट रोड में डेयरीकर्मी से अपराधियों ने ढाई लाख रुपए लूटे थे।

अन्य खबरें