Kashmir Snowfall 2019: जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में बर्फबारी, मुगल रोड बंद

Malay, Last updated: Thu, 28th Nov 2019, 5:15 PM IST
ठंड के आगमन के साथ ही घाटी के कुछ इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई है। बर्फबारी का लुत्फ उठाने के लिए पर्यटक भी घाटी में पहुंचने लगे हैं जबकि इससे कुछ परेशानियां भी उठानी पड़ रही हैं। जम्मू क्षेत्र में...
प्रतीकात्मक तस्वीर

ठंड के आगमन के साथ ही घाटी के कुछ इलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई है। बर्फबारी का लुत्फ उठाने के लिए पर्यटक भी घाटी में पहुंचने लगे हैं जबकि इससे कुछ परेशानियां भी उठानी पड़ रही हैं। जम्मू क्षेत्र में पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाले मुगल रोड को ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी होने के बाद बुधवार को वाहनों के आवागमन के लिए बंद कर दिया गया। हालांकि लगभग 300 किलोमीटर लंबे इस राजमार्ग पर दोनों ओर से हल्के मोटर वाहनों की आवाजाही जारी है।  मौसम विभाग ने मंगलवार को केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के पहाड़ी और मैदानी क्षेत्रों में बुधवार से अगले तीन दिनों के लिए मध्यम से भारी बर्फबारी और बारिश होने का अनुमान जताया था।  

विक्षोभ गहराने से तूफान की आशंका
बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना विक्षोभ बुधवार को गहरे विक्षोभ में बदल गया। जल्द ही इसके चक्रवात में तब्दील होने की आशंका है। राज्य सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि विक्षोभ गहराने से व्यापक बारिश होने का पूर्वानुमान है और ओडिशा सरकार ने राज्य के 30 में से 15 जिलों को संभावित बाढ़ की आशंका और जलजमाव को देखते हुए सचेत रहने का निर्देश दिया है।  आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र के अनुसार चक्रवाती तूफान के ओडिशा तट से टकराने की बेहद कम संभावना है। उन्होंने बताया कि चक्रवाती तूफान की वास्तविक दिशा क्या होगी और किस जगह इसके आने की संभावना है, यह सुनिश्चित करने के लिए समूचे तंत्र की करीब से निगरानी की जा रही है। 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें