शराब पिलाकर घोंट दिया गला

Malay, Last updated: 19/02/2020 04:27 PM IST
थाने के रेवां गांव का टोला सोहनबिगहा निवासी 50 वर्षीय अधेड़ गिरिश चन्द्र रौशन की अज्ञात अपराधियों ने गला घोंटकर हत्या कर दी। घटना के बाद बाद हत्यारों ने शव को गेहूं के खेत में फेंक दिया। हत्या की खबर...
प्रतीकात्मक तस्वीर

थाने के रेवां गांव का टोला सोहनबिगहा निवासी 50 वर्षीय अधेड़ गिरिश चन्द्र रौशन की अज्ञात अपराधियों ने गला घोंटकर हत्या कर दी। घटना के बाद बाद हत्यारों ने शव को गेहूं के खेत में फेंक दिया। हत्या की खबर ग्रामीणों को मंगलवार को दोपहर बाद उस समय मिली, जब महिला चुनाई देवी घास काटने गई थी। हत्या की सूचना से इलाके में सनसनी फैल गई। नाराज लोगों ने घटनास्थल पर डॉग स्क्वायड बुलाने और अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पुलिस को शव उठाने से रोक दिया। 

घटना के बारे में बड़ी बहन प्रतिभा देवी और एक रिश्तेदार योगेन्द्र यादव ने बताया कि गिरिश चन्द्र पत्नी का इलाज जहानाबाद में कराने के बाद सोमवार को दोपहर लौटा था। रोज की तरह शाम में टहलते हुए रेवां मुसहरी पहुंचे, जहां हत्यारों ने शराब पिलाकर बेहोश कर दिया, जिसके बाद नशे में धुत कर रेवां पइन से पश्चिम बधार स्थित दिवाकर शर्मा के गेहूं खेत में जबरन लाकर गला दबाकर हत्या कर दी। रात में घर नहीं पहुंचने पर परिजन इधर, उधर खोजबीन कर रहे थे। 

स्थिति तनावपूर्ण देख घटनास्थल पर मसौढ़ी पुलिस के अलावा भगवानगंज, कादिरगंज समेत अन्य थानों की पुलिस पहुंची। घटनास्थल के पास से दो जोड़ी चप्पल और खेत में खून लगी रस्सी मिली है। चप्प्ल हत्यारों का होने का दावा किया गया है और रस्सी का इस्तेमाल हत्या के लिए की गई है ऐसी आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने चप्पल और रस्सी को जब्त कर लिया है। ग्रामीणों की मांग पर पुलिस डॉग स्क्वायड को बुलाया है।

हथियारबंद गिरोह का था सक्रिय सदस्य
रेवां टोला सोहनबिगहा गांव निवासी मृतक गिरिश चन्द्र रौशन तीन दशक पूर्व इलाके में सक्रिय श्लोक यादव हथियाबंद गिरोह का सक्रिय सदस्य रहा था। बता दें कि इलाके में दशकों पूर्व गिरोह के बीच वर्चस्व का संघर्ष चलता था। उस दौरान गिरिश चन्द्र रौशन भी चल रहे हिंसक लड़ाई में सक्रिय रहा था। मगर कालान्तर में हिंसक लड़ाई समाप्ति के बाद यह समाज के मुख्यधारा में शामिल होकर सामान्य की पारिवारिक जिंदगी गुजार रहा था। परिजनों ने किसी से दुश्मनी से इनकार किया है। इधर, पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझा लेने का दावा कर रही है। 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें