इंटरनेट के लती छात्र पढ़ाई में फिसड्डी

Malay, Last updated: 21/01/2020 11:35 AM IST
ऐसे छात्र जो डिजिटल तकनीक का ज्यादा प्रयोग करते हैं, वह पढ़ाई में फिसड्डी साबित होते हैं। ब्रिटेन की स्वानसी और इटली की मिलान यूनिवर्सिटी ने अपने एक संयुक्त अध्ययन में यह खुलासा किया है। शोध में कहा...
प्रतीकात्मक तस्वीर

ऐसे छात्र जो डिजिटल तकनीक का ज्यादा प्रयोग करते हैं, वह पढ़ाई में फिसड्डी साबित होते हैं। ब्रिटेन की स्वानसी और इटली की मिलान यूनिवर्सिटी ने अपने एक संयुक्त अध्ययन में यह खुलासा किया है। शोध में कहा गया है कि इंटरनेट पर ज्यादा आश्रित छात्र पढ़ाई से पूरी तरह नहीं जुड़ पाते, ज्यादा इंटरनेट के इस्तेमाल से उन्हें अपेक्षित परिणाम नहीं मिलता और उनमें अकेलेपन की भावना घर कर जाती है। 

इंटरनेट का अधिक प्रयोग बना रहा चिंतित:अध्ययन के लिए दुनिया भर की 285 यूनिवर्सिटी के छात्रों से उनके डिजिटल उपयोग, पढ़ाई और रिजल्ट के बारे में जानकारी ली गई थी।  25 फीसदी छात्रों ने बताया कि उन्होंने दिनभर में 4 घंटे ऑनलाइन बिताए जबकि 70फीसदी ने 1 से 3 घंटे तक इंटरनेट का प्रयोग किया। इनमें 40 फीसदी छात्रों ने सोशल नेटवर्किंग जबकि 30 फीसदी ने सूचना के लिए इसका प्रयोग किया। मुख्य अध्ययनकर्ता फिल रीड ने कहा, इंटरनेट की लत और पढ़ाई के लिए प्रेरणा के बीच एक नकारात्मक संबंध पाया गया। अधिक इंटरनेट की लत रखने वाले छात्र पढ़ाई के दौरान तालमेल नहीं बना पाए और ज्यादा चिंतित दिखे।   

अन्य खबरें