बिहार के इस कॉलेज का अजीबो-गरीब फरमान, लड़कियों के खुले होंगे बाल तो नहीं मिलेगी एंट्री

Smart News Team, Last updated: Sun, 22nd Aug 2021, 3:00 PM IST
  • भागलपुर के सुंदरवती महिला महाविद्यालय ने छात्राओं के खुले बाल करके आने और सेल्फी लेने पर रोक लगा दी है. यदि कोई इस आदेश के नहीं मानता है तो उसे कॉलेज में प्रवेश नहीं मिलेगा. इस संबंध में कॉलेज कमेटी के निर्णय पर प्रिंसिपल ने आदेश जारी किए हैं. जारी आदेश में छात्राओं का ड्रेस कोड भी निर्धारिच किया गया है. छात्राओं ने इसका विरोध करते हुए इसकी तुलना शारिया कानून से की है.
बिहार के एक कॉलेज ने अजीब फरमान निकाल दिया है. जिसमें लड़कियों को खुले बाल रखने पर कॉलेज में एंट्री नहीं दी जाएगी.

पटना. बिहार के भागलपुर के सुंदरवती महिला महाविद्यालय ने एक अजीबो-गरीब फरमान जारी किया है. जिसका लगातार विरोध बढ़ता जा रहा है. कॉलेज प्रशासन ने कॉलेज में पढ़ने वाली लड़कियों को लिए के लिए ड्रेस कोड से लेकर कई प्रतिबंध लागू कर दिए हैं. इस आदेश को कॉलेज प्रिंसिपल की ओर से जारी किया गया है. इस आदेश में कॉलेज की लड़कियों के लिए सख्त निर्देश जारी किए गए हैं.

प्रिंसिपल द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि कोई भी महिला खुले बाल करके कॉलेज नहीं आएगी, यदि कोई आती है तो उसके प्रवेश पर रोक रहेगी. वहीं, कोई भी लड़की कॉलेज परिसर में सेल्फी नहीं ले सकती है.

ड्रेस कोड में सलवार कुर्ता को मंजूरी

आदेश में कहा गया कि जो छात्राएं कॉलेज आएंगी उनको रॉयल ब्लू कुर्ते के साथ सलवार और सफेद दुपट्टा पहनना होगा. वहीं, चप्पल की जगह सफेद मोजे और काले जूते पहनकर आने होंगे. साथ ही खुले बाल पर रोक लगा दी गई है, उन्हें दो चोटी या एक चोटी बांधनी होगी. जाड़े में किसी फैंसी स्वेटर के स्थान पर रॉयल ब्लू कोर्ट या कार्डिगन पहनना होगा. 

पटना सेक्स रैकेटः लड़कियों की होती थी होम डिलीवरी, जितनी कम उम्र उतना ज्यादा रेट

छात्राओं ने शरिया कानून से की तुलना

आदेश जारी होने के बाद से इसको लेकर छात्राएं अपना विरोध दर्ज करा रही हैं. कई छात्राओं ने तो इस आदेश की तुलना शरिया के कानून तक से कर दी है. वहीं, आरजेडी से जुड़ी छात्राओं ने इसे कॉलेज का तुगलकी फरमान बताया है और इसे वापस लेने की मांग की है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें