हाथ में गीता लेकर नदी में कूदा पटना का छात्र, ऐसे बची जान

Smart News Team, Last updated: Mon, 5th Jul 2021, 3:59 PM IST
  • पटना में रहकर पढ़ाई करने वाला एक छात्र हाथ में श्रीमद्भागवत गीता लिए गत रविवार को अचानक सोनपुर और हाजीपुर पुराने गंडक पुल से नीचे नदी में कूद गया. शोर मचाने पर नौलखा घाट के समीप बैठे नाविकों ने नदी में कूद कर छात्र को काली घाट के पास बचा लिया.
हाथ में गीता लेकर नदी में कूदा पटना का छात्र

पटना से एक बेहद ही चौका देने वाली खबर सामने आई है. बताया जा रहा है कि गत रविवार पटना में रहकर पढ़ाई करने वाला एक छात्र हाथ में श्रीमद्भागवत गीता लेकर अचानक सोनपुर और हाजीपुर पुराने गंडक पुल से नदी में कूद गया. इस घटना के बाद पुल और घाट पर मौजूद कुछ लोगों के शोर मचाया तो, नौलखा घाट के पास बैठे कुछ नाविकों ने नदी में डूबते हुए उस छात्र को काली घाट के पास बचा लिया. 

वहीं छात्र को गंडक नदी से निकाले जाने के बाद ही उसे हरिहरनाथ ओपी के हवाले कर दिया गया. इस घटना के बाद पुल के आस-पास काफी संख्या में लोगों की भीड़ इकट्टा हो गई. वहीं इस घटना की सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची. पुलिस ने बताया कि मधेपुरा का रितिक कुमार पटना बहादुरपुर में रहकर पढाई करता है. छात्र मानसिक रूप से विक्षिप्त है. वहीं इस संबंध में हरिहरनाथ ओपी प्रभारी कुमारी विभा रानी ने बताया कि छात्र मानसिक रूप से विक्षिप्त है. 

बिहार डिस्ट्रिक्ट पीआरओ पदों पर भर्ती के लिए आवेदन की आखिरी तारीख आज

वो किस कारण की वजह से नदी में कूदा ये पता नहीं चल सका है, लेकिन उसके पास श्रीमद्भागवत गीता मिली है. साथ ही उन्होंने बताया कि छात्र रितिक को यहां पहुंचे उसके परिवारवालों को सुपुर्द कर दिया गया है. उसे बचाने में नाविक और पहले वार्ड पार्षद दिनेश सहनी, उपेंद्र सहनी और सूरज कुमार सहनी ने महत्वूपर्ण भूमिका निभाई.

पटना में 7 साल के बच्चे के साथ अप्राकृतिक यौनाचार का केस दर्ज, पिता से भी मारपीट

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें