पटना के अस्पताल में फिटनेस सर्टिफिकेट के लिए छात्र और गार्ड्स आपस में भिड़े

Smart News Team, Last updated: 05/03/2021 03:23 PM IST
  • पटना के पालीगंज में नुमंडल अस्पताल में छात्र और अस्पताल में तैनात सुरक्षा गार्ड्स एक दूसरे से उलझ गए. अस्पताल की उपाधीक्षक डॉ. मीना कुमारी ने छात्रों को परिसर से बाहर जाने के लिए कहा लेकिन छात्रों ने समस्या का समाधान मिले बगैर अस्पताल से बाहर जाने से इंकार कर दिया.
आपस में भिड़े दो पक्ष (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: पटना के पालीगंज में गुरुवार को अनुमंडल अस्पताल में छात्र और अस्पताल में तैनात सुरक्षा गार्ड्स एक दूसरे से उलझ गए. छात्रों और सुरक्षा गार्ड्स के बीच हुए हंगामे से अस्पताल में अफरातफरी मच गई. शोर और हंगामा सुन कर आसपड़ोस के लोग भी फौरन अस्पताल के परिसर में आ गए. हंगामे को बढ़ता देख कर अस्पताल की उपाधीक्षक डॉ. मीना कुमारी ने छात्रों को परिसर से बाहर जाने के लिए कहा लेकिन छात्रों ने समस्या का समाधान मिले बगैर अस्पताल से बाहर जाने से इंकार कर दिया.

छात्रों ने लगाया आरोप

छात्रों ने बताया कि पॉलिटेक्निक में नामांकन के लिए उनका चयन हो चुका है और कॉउंसलिंग भी पूरी हो चुकी है. पॉलिटेक्निक में नामांकन की शर्तों के अनुसार छात्रों को फिटनेस सर्टिफिकेट की भी जरूरत है. जिसको लेने के लिए छात्र चार दिनों से अनुमंडल अस्पताल का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन किसी न उनकी बात नही सुनी. थके हारे छात्रों ने जब अस्पताल उपाधीक्षक से मिलकर फिटनेस सर्टिफिकेट बनाने को कहा तब उन्होंने साफतौर पर इनकार कर दिया.

बिहार कर्मचारी चयन आयोग ने इंटर स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा 2014 की ओएमआर को किया रद्द, जानिए कारण

उपाधीक्षक के साफ इंकार के इस रवैये से छात्र और अधिक गुस्से में आ गए और अस्पताल प्रबंधन के विरोध में नारेबाजी करते हुए अनुमंडल कार्यालय पहुंच गए. वहां फिटनेस सर्टिफिकेट बनवाने से संबंधित सभी आवेदनों को छात्रों ने एसडीएम को दिया. इस मामले के संबंध में एसडीएम ने बताया कि छात्रों की ओर से आवेदन उन्हें प्राप्त हुआ है. प्राप्त आवेदन के आधार पर मामले की जांच कर छात्रों का मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट बनवाने का हर संभव प्रयास किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें