पटना कॉलेज में लड़कियों की ड्रेस बदली, अब स्टाइलिश पैंट और प्लाजो पहनने की मिली अनुमति

ABHINAV AZAD, Last updated: Fri, 22nd Oct 2021, 10:09 AM IST
  • पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राएं 22 अक्टूबर से लेगिंग्स, स्ट्रेट पैंट या प्लाजो पहनकर कॉलेज आ सकती हैं. लेगिंग्स, स्ट्रेट पैंट और प्लाजो को कॉलेज प्रशासन ने नए यूनिफार्म में शामिल कर दिया है.
कॉलेज प्रशासन ने लेगिंग्स, स्ट्रेट पैंट और प्लाजो को नए यूनिफार्म में शामिल कर दिया है.

पटना. पटना वीमेंस कॉलेज की छात्राएं अब लेगिंग्स, स्ट्रेट पैंट या प्लाजो पहन कर आ सकती हैं. दरअसल, गुरूवार को कॉलेज प्रशासन ने इस बात की जानकारी दी. कॉलेज प्रशासन द्वारा यूजी व पीजी छात्राओं को इस बात की जानकारी दे दी गई है. इस आदेश के बाद अब छात्राएं 22 अक्टूबर से लेगिंग्स, स्ट्रेट पैंट या प्लाजो पहनकर कॉलेज आ सकती हैं. लेगिंग्स, स्ट्रेट पैंट और प्लाजो को कॉलेज प्रशासन ने नए यूनिफार्म में शामिल कर दिया है.

बताते चलें कि अब तक यूजी और पीजी छात्राओं को मजह सलवार, कमीज और दुपट्टा ही पहनकर आने की अनुमति थी. लेकिन अब इस नए आदेश के बाद छात्राएं पुराने यूनिफॉर्म के साथ नए यूनिफॉर्म में भी कॉलेज आ सकती हैं. गौरतलब है कि पिछले लंबे समय से कॉलेज की छात्राएं यूनिफॉर्म में बदलाव की मांग कर रही थीं. इस बाबत कॉलेज की छात्रा सौम्या कहती हैं कि हम लोग बीते लंबे वक्त से कॉलेज प्रशासन से लगातार यह मांग कर रहे थे. अब कॉलेज प्रशासन ने हमारी मांगों को मान लिया है. सौम्या आगे कहती हैं कि कॉलेज प्रशासन के इस फैसले से कॉलेज की छात्राएं बेहद खुश हैं.इस बीच कॉलेज प्रशासन ने सेमेस्टरवार छात्राओं को कॉलेज आने का शेड्यूल भी जारी कर दिया है. पहले और दूसरे सेमेस्टर की छात्राओं को सोमवार-बुधवार को कॉलेज आना है. जबकि तीसरी और चौथी सेमेस्टर की छात्राओं को मंगलवार और गुरूवार को कॉलेज आना है.

स्वच्छता वाली दिवाली: पुराने कपड़े और बेकार सामान पटना नगर निगम को करें दान

मिली जानकारी के मुताबिक, पांचवे और छठे सेमेस्टर की छात्राएं बुधवार और शुक्रवार को कॉलेज आएंगी. कॉलेज की प्राचार्य सिस्टर एम रश्मि ने बताया कि एक नवंबर से कॉलेज में सभी सेमेस्टर की छात्राएं आएंगी. बताते चलें कि कॉलेज में केआईबीए द्वारा 23 अक्टूबर को प्लेसमेंट ड्राइव चलाया जाएगा. जिसमें कि एमसीए और बीसीए की चयनित छात्राएं शामिल होंगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें