लालू से मिलकर पटना लौटे तेज प्रताप राजद ऑफिस पहुंचे, जगदानंद सिंह को किया इग्नोर

Nawab Ali, Last updated: Sat, 28th Aug 2021, 7:03 PM IST
  • दिल्ली में अपने पिता और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव से मिलकर पटना लौटे तेज प्रताप यादव शनिवार को अचानक आरजेडी पार्टी कार्यालय पहुंचे. जहां उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को पूरी तरह इग्नोर किया. इस दौरान तेज प्रताप यादव के चेहरे पर अलग ही तेवर देखने को मिले.
आरजेडी कार्यालय में तेजप्रताप ने पार्टी नेताओं से की मुलाकात. (फाइल फोटो)

पटना. राष्ट्रिय जनता दल के विधायक और लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप दिल्ली से पटना लौट आये हैं. जिसके बाद वो पहले आरजेडी के कार्यालय में पहुंचे जहा पर उन्होंने पार्टी नेताओं से मुलाकात की. इस दौरान आरजेडी कार्यालय में बिहार आरजेडी अध्यक्ष जगदानंद सिंह भी मौजूद थे लेकिन तेजप्रताप बिना मिले ही पार्टी कार्यालय में घुस गए और नेताओं के साथ मुलाकात की. तेजप्रताप अपने सख्त तेवर और बयानबाजी को लेकर जाने जाते हैं. लेकिन इस बार तेजप्रताप का पार्टी कार्यालय पहुंचने के बाद जगदानंद से मुलाकात न करना चर्चा का विषय बना हुआ है. शुक्रवार को ही तेजप्रताप के हनुमान कहे जाने वाले आकाश यादव ने लोजपा का धामन थाम लिया है.

लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप का बिहार आरजेडी अध्यक्ष जगदानंद के इन दिनों छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है. दोनों ही दूसरे के खिलाफ सख्त तेवर दिखा रहे हैं. विधायक तेजप्रताप दिल्ली से लौटने के बाद अचानक आरजेडी कार्यालय पहुंचे. तेजप्रताप यादव के कार्यालय पहुंचते ही उनके समर्थक भी जुटने लगे. लेकिन इस दौरान आरजेडी कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद भी मौजूद थे लेकिन तेजप्रताप जगदानंद को इग्नोर करते हुए लालू यादव के दफ्तर में जा घुसे. तेजप्रताप की प्रदेश अध्यक्ष से मुलाकात न करने की खूब चर्चा हो रही है. पार्टी दफ्तर पहुंचने के बाद तेजप्रताप ने पार्टी नेताओं के साथ मीटिंग भी की है माना जा रहा है की दिल्ली में लालू यादव से मुलाकात के बाद तेजप्रताप फिर से सक्रीय हो गए हैं.

जदयू कार्यालय के बाहर लगा नया पोस्टर, सीएम नीतीश के साथ...

तेजप्रताप-जगदानंद विवाद

लालू के लाल तेजप्रताप और जगदानंद में इन दिनों जबरदस्त नाराजगी देखने को मिल रही है. तेजप्रताप ने हाल ही में कई ऐसे बयां बिहार अध्यक्ष जगदानंद को लेकर दिए जिससे वो नाराज हो गए. छात्र आरजेडी का अध्यक्ष बनाये जाने को लेकर दोनों के बीच तलवारें खिंच गई. दरअसल तेजप्रताप अपने करीबी आकाश यादव को छात्र आरजेडी का अध्यक्ष बनाना चाहते थे. 

वायु प्रदूषण रोकने के लिए गंगा किनारे ग्रीन बेल्ट विकसित, लगाए जाएंगे कई पेड़

लेकिन जगदानंद आकाश यादव को छात्र आरजेडी का अध्यक्ष बनाने को राजी नहीं हुए. लालू यादव के दखल के बाद आकाश यादव को छात्र आरजेडी का अध्यक्ष बनाया गया. लेकिन कुछ ही समय बाद जगदानंद ने गगन कुमार को छात्र आरजेडी का अध्यक्ष बना दिय. जिसके बाद तेजप्रताप ने जगदानंद पर निशाना साधते हुए कहा की जगदानंद ने जो फैसला लिया है वो पार्टी संविधान के विपरीत है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें