पटना : ढोल बाजे व आतिशबाजी के बीच पत्नी राजश्री को लेकर घर पहुंचे तेजस्वी

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Tue, 14th Dec 2021, 11:15 AM IST
  • तेजस्वी यादव दिल्ली में राजेश्वरी यादव (पुराना नाम रिचेल) के साथ शादी रचाकर उन्हें अपने साथ लेकर पहली बार पटना स्थित अपने आवास आए. उनकी स्वागत में खुशी जाहिर करने पहुंचे कार्यकर्ताओं ने जमकर आतिशबाजी की और ढोल बजाए. घर में मां ने बहु के पहली बार आगमन पर परंपरागत तरीके से नए जोड़े का स्वागत किया.
तेजस्वी यादव और उनकी पत्नी राजेश्वरी यादव

पटना.  दिल्ली में 9 दिसंबर को राजेश्वरी यादव (पुराना नाम रिचेल) के साथ शादी करने के बाद सोमवार को पटना लौटकर तेजस्वी यादव ने कहा कि लक्ष्मी आती है तो घर में उजाला हो जाता है. और इस बंधन में बंधने के बाद हमें नई ऊर्जा मिली है. इस ऊर्जा का इस्तेमाल बिहार की जनता की सेवा में लगाएंगे. उन्होंने बताया कि दोनों परिवार की मर्जी और आशीर्वाद से हम लोग (रिचेल और मैं) एक हुए हैं. साथ ही ये भी बताया कि अब इनका नया नाम राजश्री है. पिता लालू प्रसाद ने यह नया नाम इसलिए दिया है कि किसी को पुकारने में परेशानी नही हो. पत्नी राजश्री की ओर इशारा करते हुए कि इन्हें भी ये नाम पसंद है.

रिचेल एक ईसाई परिवार से ताल्लुक रखती हैं इनसे जुड़े शादी संबंधित सवाल पर तेजस्वी नें कहा कि किसी को नाराजगी है कि नहीं मुझे नहीं पता. जो लोग इस तरह के कमेंट कर रहे हैं वह उम्र में हम से बड़े हैं इसलिए मुझे उन पर कुछ नहीं कहना. आगे  उन्होंने कहा है कि हम लोग लोहियावादी हैं. जब ए टू जेड की बात करते हैं तो भेदभाव करना ठीक नहीं है.फिलहाल तेजस्वी के घर में राजश्री के आने से खुशी का माहौल है. 

बिहार सरकार बनकर रांची में घूम रही थी स्कॉर्पियो, अवैध नेम प्लेट वाली 17 गाड़ियों का चालान

शादी करने के बाद सोमवार रात पत्नी राजश्री के साथ तेजस्वी पटना एयरपोर्ट तो दोनों के स्वागत में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं और समर्थको का हुजूम उमड़ पड़ा. नई दुल्हन संग तेजस्वी को देखकर लोग बहुत खुश थे. खुशी के मौके पर आतिशबाजी के बीच ढोल बाजे के साथ ये नया जोड़ा दस सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास में प्रवेश किया. पहली बार घर में बहु के आगमन पर तेजस्वी की मां ने रिती रिवाज व परंपरागत तरीके से दोनों का स्वागत किया. इस दौरान मौजूद कार्यकर्ताओं ने भैया भाभी जिंदाबाद के नारे लगाए. 

किसी तरह विधायक व कार्यकर्ताओं का मदद से सुरक्षा में तैनात पुलिस ने पत्नी के साथ तेजस्वी को गाड़ी तक पहुंचाया. बताया जा रहा है कि एयरपोर्ट गेट के से 10 कदम दूर पर खड़ी फूलो से सजी गाड़ी तक पहुंचने में तेजस्वी को 12 मिनट लग गए. दस सर्कुलर रोड के पास जैसे ही तेजस्वी की कार पहुंची वहा बड़ी संख्या में स्वागत के लिए मौजूद कार्यकर्ताओं और समर्थकों आतिशबाजी शुरू कर दी. तेजस्वी की मां राबड़ी देवी ने बहु राजश्री को कार से उतारा और परंपरागत तरीके से आरती कर घर में प्रवेश कराया. इस दौरान करीब 15 मिनट तक सुरक्षा में तैनात कर्मियों को स्थिती संभालना कठिन रहा. दरअसल भीड़ इतनी थी कि सुरक्षा के सारे घेरे टूट गए.

घर की छोटी बहु राजेश्वरी के पहली बार आगमन पर तेजस्वी की मां राबड़ी ने परंपरागत तरीके से किया स्वागत
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें