तेजस्वी ने NDA सरकार को कहा- CM नीतीश के आधा दर्जन से ज्यादा मंत्री हैं दागदार

Smart News Team, Last updated: 22/11/2020 12:27 AM IST
  • तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर एक बार फिर से नीतीश सरकार के मंत्रियों को भ्रष्ट बताया है. यहां तक कि वे कितने है इसकी संख्या के बारे में भी बात साझा की है. उन्होंने बताया आधा दर्जन से ज्यादा मंत्री भ्रष्ट हैं.
तेजस्वी यादव ने CM नीतीश के आधा दर्जन से ज्यादा मंत्रियों को दागदार कहा

पटना: आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर एक बार फिर निशाना साधते हुए उनके मंत्रियों को दागदार बता दिया है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार में शामिल 14 में से 8 मंत्री भ्रष्ट हैं. इस बात की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर कर दी है. बता दें कि चुनाव जीतने के कुछ बाद से ही अस्तित्व में आई एनडीए सरकार लगातार सवालों के घेरे में खड़ी दिख रही है. ऐसे में खुद मुख्यमंत्री की छवि को नुकसान पहुंच रहा है.

वहीं, विपक्ष के नेता तेजस्वी ने ट्वीट कर जो आरोप लगाएं हैं उसके मुताबिक, बदलाव के जनादेश के विपरीत यह सरकार बनी है. इसके बनते ही नीतीश जी ने रोजी-रोटी, नौकरी, समान काम-समान वेतन, कृषि ऋण माफी, बिजली दर कम करना, पुरानी पेंशन लागू करना, संविदाकर्मियों की मांगों को पूरा करना और शिक्षा पर बजट का 22 फीसदी खर्च करने जैसे सकारात्मक मुद्दों को छोड़ नकारात्मकता को गले लगा लिया है. वहीं, दूसरे ट्वीट में आरजेडी नेता ने पूछा है कि माननीय मुख्यमंत्री नीतीश जी 19 लाख नौकरी, सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, उद्योग लगाने जैसे जन सरोकारों से जुड़े मुद्दों पर विमर्श क्यों नहीं करते?

मेवालाल के इस्तीफे पर तेज प्रताप बोले-पहली बॉल में मजबूत विकेट को बैक टू पवेलियन

हाल में ही मेवालाल चौधरी का इस्तीफा भी तेजस्वी द्वारा लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह से ही हुआ था. इस्तीफे की मांग खुद राज्य के मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार के आरोप से घिरे मेवालाल चौधरी से इस्तीफा की मांग की थी. बता दें कि मेवालाल करीब 72 घंटे के ही मंत्री बन पाए थे. इसके साथ ही वे अपने विभाग का चार्ज संभालने के भीतर ही पद से इस्तीफा देना पड़ा था. 

बिहार में नौकरी-भर्ती मोड में नीतीश सरकार, विभागों से मांगा खाली पद का हिसाब

इस इस्तीफे के बाद तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए एक ट्वीट कर लिखा था कि आप थक चुके हैं इसलिए आपकी सोचने-समझने की शक्ति क्षीण हो चुकी है. जान-बूझकर भ्रष्टाचारी को मंत्री बनाया, थू-थू के बावजूद पदभार ग्रहण कराया, घंटे बाद इस्तीफ़े का नाटक रचाया. असली गुनाहगार आप है. आपने मंत्री क्यों बनाया? आपका दोहरापन और नौटंकी अब चलने नहीं दी जाएगी?"

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें