पटना: चौकीदार बताएंगे कहां बिक रही है शराब, सूचना नहीं देने पर उनपर गिरेगी गाज

Smart News Team, Last updated: 11/12/2020 09:55 AM IST
  • कहां शराब बन रही है और कौन बेच रहा है. इसकी भी खबर उन्हें रखनी होगी शराब का धंधा होने पर चौकीदार इसकी खबर थाना को देंगे.चौकीदार यदि सूचना नहीं देते हैं और शराब की बरामदगी होती है तो लापरवाही के आरोप में उनपर भी कार्रवाई भी सकती है.
पटना: चौकीदार बताएंगे कहां बिक रही है शराब, सूचना नहीं देने पर उनपर गिरेगी गाज

पटना: शराबबंदी कानून को प्रभावी ढंग से लागू करने और विधि व्यवस्था बनाने के लिए चौकीदारों की भी मदद ली जाएगी. गांव की हर गतिविधि पर चौकीदार की नजर होती है. और चौकीदार लोगों के बीच का होता है. ऐसे में कहां शराब बन रही है और कौन बेच रहा है. इसकी भी खबर उन्हें रखनी होगी शराब का धंधा होने पर चौकीदार इसकी खबर थाना को देंगे. चौकीदारों के जरिए शराब के धंधे वालों पर शिकंजा कसा जाएगा.

आसूचना की दी जाएगी जिम्मेदारी

विधि व्यवस्था और शराबबंदी को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काफ़ी सख्ती से हाल के दिनों में 2 दफे समीक्षा बैठक की है. बुधवार को हुई समीक्षा बैठक में शराबबंदी को और प्रभावी तरीके से लागू करने के संबंध में दिशा निर्देश दिए गए हैं. जानकारी के मुताबिक शराब के धंधे को रोकने के लिए चौकीदारों की मदद लेने को कहा गया है. हर गांव के लिए चौकीदार की नियुक्ति होती है. उनका इलाका बड़ा नहीं होता है लिहाजा यह गांव की गतिविधियों पर आसानी से नजर रख सकते हैं. 

बिहार सिपाही भर्ती: 13 फर्जी अभ्यर्थी अरेस्ट, कागजों में नहीं थे नाम

ऐसे में कहीं शराब का निर्माण बिक्री हो रही है. चौकीदार को इसकी जानकारी मिल सकती है. इसे देखते हुए शराब के धंधे को रोकने के लिए चौकीदारों का इस्तेमाल आसूचना संग्रह में ज्यादा से ज्यादा करने के लिए निर्देश दिए गए हैं .चौकीदार के इलाके में शराब बन रही है, में तो वह स्थानीय थाना को इसकी सूचना देंगे थाना उक्त सूचना पर कार्रवाई करेगा चौकीदार यदि सूचना नहीं देते हैं और शराब की बरामदगी होती है तो लापरवाही के आरोप में उनपर भी कार्रवाई भी सकती है.

झारखंड से गाड़ी रजिस्टर है तो हो जाएं सावधान, बिहार में हो सकती है कार्रवाई

अब एसपी के प्रशासनिक नियंत्रण में है चौकीदार

चौकीदार पहले डीएमके प्रशासनिक नियंत्रण में होते थे उनका काम पुलिस से मिलता जुलता है. लिहाजा राज्य सरकार ने इसमें बदलाव किया है अब चौकीदार एसपी की प्रशासनिक नियंत्रण में ऐसे में पुलिस इन का बेहतर इस्तेमाल कर सकती है.

रांची के बड़े ठेकेदार और Ex MLA संकटेश्वर सिंह के दामाद अरविंद सिंह की हत्या

थानावार होगी समीक्षा

शराब के अवैध कारोबार को रोकने के लिए पुलिस के अस्तर से क्या कार्रवाई की गई है. इसकी समीक्षा थाना स्तर पर होगी. सूत्रों के मुताबिक आला पुलिस अधिकारी देखेंगे की कितनी शराब बरामद हुई है शराब के धंधे में लिप्त लोगों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है. यदि कार्रवाई नहीं हुई तो वजह क्या है थानावार समीक्षा में यदि पुलिस की लापरवाही सामने आती है तो एक्शन लिया जाएगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें